सरहद पर दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाला सेना का जवान पटवारी से परेशान

पीडि़त जवान पटवारी के पास एक साल से ऋण पुस्तिका के लिए पास चक्कर लगा रहे हैं

By: Manoj singh Chouhan

Published: 03 Mar 2019, 07:08 PM IST

रीवा. सरहद पर दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाले वीर सपूत अपने ही घर में बेबस है। जिले के मनगवां तहसील क्षेत्र के धवैया गांव निवासी योगेश्वर मिश्र भारतीय सेना में हैं। जवान योगेश्वर ने हुजूर तहसील क्षेत्र के बरा में 200 वर्ग गज जमीन की रजिस्ट्री कराई है। एक साल बीतने के बाद भी जमीन योगेश्वर के नाम दर्ज नहीं की गई।

पीडि़त जवान के परिजन पटवारी के पास एक साल से ऋण पुस्तिका के लिए पास चक्कर लगा रहे हैं। इस सिलसिले में जवान अवकाश लेकर कई बार आ चुका है। इसके बाद भी कार्रवाई नहीं की गई। शनिवार दोपहर योगेश्वर मिश्र, एसएलआर रवि श्रीवास्तव के कार्यालय पहुंचे। आवेदन देकर कहा, एक साल से ऋण पुस्तिका के लिए भटक रहा हूं, जमीन की रजिस्ट्री कराने के बाद न तो नामांतरण किया जा रहा है और न ही ऋण पुस्तिका दी जा रही है। पैसे नहीं दिया तो पटवारी ने फाइल फेंक दी। मामले में एसएलआर ने संबंधित पटवारी से फोन पर संपर्क कर प्रकरण की जानकारी ली और फटकार लगाई। जल्द ऋण पुस्तिका देकर नामांतरण की प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए।

Manoj singh Chouhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned