अब अगर मछली मारी तो खैर नहीं, लगेगा भारी जुर्माना होगी जेल

कलेक्टर ने जारी किया फरमान

By: Ajay Chaturvedi

Published: 30 Jun 2020, 05:00 PM IST

रीवा. जिले में मछली कारोबार को प्रतिबंधित कर दिया गया है। यह प्रतिबंध 15 अगस्त तक जारी रहेगा। इस दौरान कोई भी व्यक्ति न मछली मार सकेगा, न उसे रख सकेगा ना ही उसकी बिक्री कर सकेगा।

कलेक्टर व दंडाधिकारी डॉ. इलैयाराजा टी ने आदेश जारी कर 15 अगस्त तक के लिए क्लोज सीजन घोषित कर दिया है। अब इस अवधि में सभी प्रकार का मत्स्याखेट तथा मत्स्य विनिमय और परिवहन करना प्रतिबंधित रहेगा। कलेक्टर ने बताया कि इन नियमों का उल्लंघन करने पर एक वर्ष का कारावास या 5 हजार रुपये जुर्माना या दोनों से दंडित किए जाने का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि जिले में 15 अगस्त तक की अवधि में किसी प्रकार का मत्स्याखेट न स्वंय करें और न ही इस कार्य में अन्य को सहयोग दें। छोटे तालाब या अन्य स्रोत जिनका कोई संबंध किसी नदी या नाले से नही है उनके लिए उक्त नियम लागू नहीं होंगे।

बता दें कि यह समय मछलियों के लिए प्रजनन का होता है। ऐसे में इस दौरान कोई भी मछुआरा मछली मारते पकड़ा जाएगा, तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उस पर जुर्माना लगाने के साथ-साथ उसे जेल भी भेजा जा सकता है।

हालांकि इससे गरीब मछुआरों के सामने भुखमरी की स्थिति पैदा हो सकती है। ऐसे में मछुआरों की ओर से इस अवधि में राहत राशि की मांग की जा रही है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned