बाणसागर से रीवा के चार ब्लाकों के 113 गांवों की बुझेगी प्यास, इन गांवों को मिलेगा मीठा पानी

जिले के रीवा, रायपुर कर्चुलियान, सिरमौर व गंगेव के गांवों में जलापूर्ति की तैयारी, टिकुरी में इंटेक वेल व सगरा में वाटरट्रीटमेंट प्लांट निर्माणाधीन

By: Rajesh Patel

Published: 10 Jun 2021, 08:55 AM IST

रीवा. बाणासार और जीवनदायनी नदी बीहर का पानी चार ब्लाकों में लोगों का गला तर करने के लिए पहुंचेगा। सबकुछ योजना के तहत हुआ तो करोड़ों की लागत से निर्माणाधीन पेयजल परियोजना रीवा, रायपुर कर्चुलियान, सिरमौर और गंगेव के 113 गांवों में जलापूर्ति करने की तैयारी है। विभागीय अधिकारियों का दावा है कि पचास फीसदी से ज्यादा काम पूरा हो गया है।
132 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन योजना
मध्य प्रदेश जलनिगम इकाई सतना के द्वारा रीवा ब्लाक के टिकुरी व सगरा में 132.72 करोड की योजना निर्माणाधीन है। रीवा ब्लाक के टिकुरी में 25.6 एमएलडी का इंटेक वेल निर्माण किया जा रहा है। इस इंटेक वेल का पानी सगरा में 20.6 एमएलडी की क्षमता का वाटरट्रीटमेंट प्लांट निर्माणधीन है। जलनिगम के इंजीनियरों के मुताबिक बाणसागर का पानी बीहर नदी में छोड़ा जाएगा।
टिकुरी में निर्माणाधीन इंटेक वेल
टिकुरी में बनाए जा रहे इंटेक वेल में पानी को एकत्रित किया जाएगा। यहां से लिफ्ट कर पानी का ट्रीटमेंट सगरा में किया जाएगा। सगरा में पानी ट्रीटमेंट होने के बाद आस-पास ब्लाकों के 113 गांवों को चिहि़ंत किया गया है। पाइप लाइन के जरिए गांवों में जलापूर्ति सप्लाई की जाएगी। वर्ष 2019 में योजना को हरीझंडी मिली थी। विभागीय अधिकारी पचास फीसदी से ज्यादा निर्माण कार्य पूर्ण का दावा कर रहे हैं। अधिकारियों का दावा है कि ग्रामीणों को शुद्ध पीने का पानी मिलेगा।
2.22 लाख आबादी को मिलेगा मीठा पानी
पेयजल के लिए बड़ी-बड़ी टंकियों का निर्माण कार्य कराया जा रहा है। कुछ टंकियों का निर्माण पूर्ण हो गया है। ाइसके लिए पाइप लाइन भी बिछाई जा रही है। इस योजना को जल मिशन योजना के तहत जोड़ा गया है। अधिकारियों का दावा है कि वर्ष 2023 तक इस पेयजल परियोजना से 2.22 लाख जनसंख्या को पीने के लिए मीठा पानी मिलेगा।
इन गांवों में होगी जलापूर्ति
सगरा ट्रीटमेंट प्लांट से डिहिया, धुंधकी, कन्दैला, नदना, सलैया, छिउला, जोडौरी, पटेहरा, रामपुर, शुकुलगवां, बुडवा, धवैया, तिवनी, मढ़ी, कठेरी, सूरा, पोखरा, धौरहरा, आलमगंज, बेलवा पैकान, अजगरहा, कोष्टा, हरिजरपुर, इटहा, नवागांव, सगरा, रौरा, बक्छेरा, बरा-369, भाटी, इटौरा, पुरैना, पटना, पडऱा, लक्ष्मणपुर, खरहरी, लोहदवार, सिरखिनी, सोनौरा, पहड़यिा-365, महसुआ, चोरगढ़ी, सथिनी, झिरिया, कटकी, सेमरा, डिहिया, बेढौआ, माडौ, खैर, हर्दी कलाल, अजगरहा, कुपरी, अल्लनगरी, सिरखिनी, उमरिहा में जलापूर्ति होगी।
सगरा से इन गांवों में भी पहुंचेगा पानी
डिहिया, टिकुरी, बरा-395, बरा-393, अमिलिया, गगहरा, कुशहा, पुतरी, पैखखरा, मनपुरी, मझबोगा, खजुआन, उकठा (कंचनुपर), सेंदुरा, मदुआ, शिपुरवा, पहडिया, पतौना, खौरा, खीरा, महसुआ, चौरा, मढ़ा, मझियार, बरहा, पटेहरा, कबरा, करौंदहा, कशिहाई, लभौली, कठना, झिरिया, खम्हरिया-188, नवा, हरदी खुर्द, मझिगवां, गौरीहर, पैपखरा, टिकुरी, तिलनी, बुढिया, उकठा ( कंचनपुर न्यू) मनवही।

Bansagar will quench thirst in 113 villages of Rewa
patrikia IMAGE CREDIT: patrika
Bansagar will quench thirst in 113 villages of Rewa
patrika IMAGE CREDIT: patrika
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned