लाइफ में चाहिए था ट्विस्ट इसलिए बन गया अंतरराज्यीय बदमाश

मऊगंज पुलिस ने रिमांड में लिये गये दोनों बदमाशों को जेल भेजा

By: Balmukund Dwivedi

Updated: 30 Dec 2018, 07:12 PM IST

रीवा। लूट के इरादे से वृद्ध की गोली मारकर हत्या करने वाले बदमाशों की रिमांड खत्म होने पर पुलिस ने उन्हें न्यायालय में पेश कर दिया जहां से उनको न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। मऊगंज थाने के नरैनी पहाड़ के समीप बाबूलाल पटेल (60) की गोली मारकर हत्या की गई थी जिसमें पुलिस ने आरोपी अजय रावत निवासी पकरा व विमल मिश्रा निवासी प्रयागराज को गिरफ्तार किया था। उक्त आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पुलिस ने दो दिन की रिमांड में ले लिया है। पकड़े गये आरोपियों ने पूछताछ में अहम जानकारियां उगली है। इस गिरोह का सरगना अजय रावत था जिसने अपना गिरोह तैयार किया था। आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह लाइफ ट्विस्ट चाहता था। वह कुछ अलग हट कर करना चाहता था। फलस्वरूप उसने अपनी गैंग बनाई और वारदातों को अंजाम देने लगा। उसका गिरोह यूपी व एमपी में काम करता था।

प्रयागराज से लाता था असलहे
वारदात करने के लिए असलहे वह प्रयागराज से ही लाता था जहां उसके गिरोह के बाकी सदस्य इसका इंतजाम करते थे। आरोपी ज्यादातर लूटपाट की वारदातों को अंजाम देता था। यूपी में भी उसके खिलाफ लूट सहित अन्य धाराओं के तहत मामले दर्ज है। आरोपी अक्सर बाइकों में घूमते थे और सूनसान जगह में जो भी फंस जाता था तो उसे लूट लेते थे। हैरानी की बात तो यह है कि उसकी करतूत से घर के लोग वाकिफ नहीं थे। आरोपी के गिरोह में शामिल यूपी के बदमाशों के नाम सामने आये है जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। थाना प्रभारी अनूप सिंह ने बताया कि जिन लोगों के नाम सामने आये है उनको भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जायेगा। उनके पकड़े जने पर कई अन्य घटनाओं का रहस्य खुलने की संभावना है।

वृद्ध ने दी थी धमकी, इसलिए कर दिया शूट
पकड़े गए आरोपी ने बताया कि घटना दिनांक को उसने वृद्ध को लूटने के इरादे से रोका था। जिस समय वह वृद्ध से पैसा छीन रहा था उसी समय वृद्ध ने उसे गांव के लोगों के आ जाने पर काट डालने की धमकी दी। वृद्ध की धमकी सुनते ही उसने कट्टे से फायर कर दिया। हत्या करने के बाद घर गये जहां आराम से पूरी रात सोये।

Balmukund Dwivedi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned