भोपाल के इंजीनियर ने इंस्टाल की नई मशीन, फिर से लैब में संदिग्धों की जांच शुरू

लैब में दो दिन पड़े रहे संदिग्धों के सैंपल

By: Anil singh kushwah

Published: 24 May 2020, 02:17 AM IST

रीवा. मेडिकल कॉलेज की वॉयरोलॉजी लैब में मशीन की बॉयोसेफ्टी कैबिनेट खराब होने के कारण हर सैंपलों की जांच के बाद मशीन को रिसेंट करना पड़ रहा था। जिससे जांच में देरी हो रही थी। शनिवार को भोपाल से आए इंजीनियर ने लैब में नई मशीन इंस्टाल की। पहले राउंड में लगभग 90 सैंपल लगाए गए। इंजीनियर देररात तक रिपोर्ट की टेस्टिंग तक बैठे रहे।

रीवा, सतना, सीधी और सिंगरौली के सैंपल प्रभावित
जांच रिपोर्ट आने के बाद अस्पताल के इंजीनियर और चिकित्सकों की टीम ने राहत की सांस ली। अब लैब में जांच शुरू हो गई है। लैब में दो दिन से संदिग्धों की जांच पूरी तरह प्रभावित थी। लैब में रीवा, सतना, सीधी और सिंगरौली के लगभग ३०० जांच सैंपल पड़े थे। जांच नहीं होने से संदिग्धों को कोविड-१९ में रखा गया है।

दो दिन में 300 से अकिध सैंपल हुए प्रभावित
अधीक्षक डॉ. पीके लखटकिया ने बताया कि बीते दो दिन के २०० सैंपल रखे हुए थे। शनिवार को भी करीब १०० सैंपल आए हैं। सभी को मिलाकर ३०० सैंपल हो गए। भोपाल से आए इंजीनियर ने लैब में नई मशीन लगा दी है। बायोसेफ्टी कैबिनेट ठीक होने के बाद दोपहर ४० की रिपोर्ट आ गई थी। इसके बाद देरशाम को ९० सैंपलों को जांच के लिए एक साथ लगाया गया। देररात जांच रिपोर्ट आ जाएगी। रविवार शाम तक डंप सभी सैंपलों की जांच पूरी हो जाएगी।

Anil singh kushwah Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned