बर्ड फ्लू की आशंका पर सफारी और चिडिय़ाघर के तालाबों के पानी के साथ पक्षियों का लिया सेंपल

 

- सेंट्रल जू अथारिटी आफ इंडिया के निर्देश पर पशु चिकित्सा विभाग की टीम ने मुकुंदपुर पहुंचकर सेंपल लिया

By: Mrigendra Singh

Published: 22 Jan 2021, 09:53 AM IST


रीवा। महाराजा मार्तण्ड सिंह जूदेव चिडिय़ाघर एवं ह्वाइट टाइगर सफारी में बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए फिर से कई सेंपल लिए गए हैं और जांच के लिए भेजे गए हैं। पशु चिकित्सा विभाग से एक टीम गठित कर रीवा से मुकुंदपुर के लिए भेजी गई जहां पर कई पक्षियों का सेंपल लेने के साथ ही परिसर के उन तालाबों के पानी का भी सेंपल लिया गया है जहां पर जानवर भी पानी पीते हैं।

सेंट्रल जू अथारिटी आफ इंडिया ने आशंका जाहिर की है कि चिडिय़ाघरों में बाहर से आने वाले पक्षियों के जरिए बर्ड फ्लू का संक्रमण फैल सकता है। कुछ दिन पहले ही एक कबूतर परिसर में मृत पाया गया था, जिसके बाद चार खुले में विचरण करने वाले पक्षियों का सेंपल जांच के लिए भेजा गया था। जिसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है।

चिडिय़ाघर और ह्वाइट टाइगर सफारी के उन स्थानों से पक्षियों के सेंपल एकत्र किए गए हैं जहां पर वह बैठते हैं। इन स्थानों पर पक्षियों की बीट और पंख आदि एकत्र कर जांच के लिए सेंपल भेजा गया है। साथ ही चिडिय़ाघर के थामिन डियर बाड़े के तालाब का पानी भी जांच के लिए भेजा गया है।

इसी तरह ह्वाइट टाइगर सफारी के भीतर स्थित दोनों तालाबों के पानी का सेंपल लिया गया है। हालांकि इनदिनों सफारी के तालाबों में पानी नहीं भरा जा रहा है लेकिन जो पानी है उसे खुले में घूमते हुए बाघ-बाघिन द्वारा पीने की संभावना को ध्यान में रखते हुए सेंपल लिया गया है। विशेषज्ञों का मानना है कि बर्ड फ्लू के वायरस केवल पक्षियों तक सीमित नहीं रहते, यह दूसरे जानवरों में भी फैल सकते हैं।
--------------


11 सेंपल जांच के लिए भेजे गए
चिडिय़ाघर और सफारी में कुल 11 सेंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। जिसमें आठ पक्षियों के और तीन तालाबों के पानी के सेंपल शामिल हैं। चिडिय़ाघर में कोई पक्षी पालतू नहीं है लेकिन यहां पर जलीय पक्षियों के साथ ही अन्य खुले में विचरण करने वाले पहुंच रहे हैं। परिसर में तालाबों के साथ ही नाले भी स्थित हैं। पक्षियों में प्रमुख रूप से कामन किंगफिशर, ग्रीन बी ईटर, मोर, पोंडहेरांस, तोंता, इंडियन कोर्मोरेंट, धनेह, टिटहरी आदि शामिल हैं।
------------
सीजेडए को भेजी जा रही रिपोर्ट
जानकारी मिली है कि चिडिय़ाघर प्रबंधन बर्ड फ्लू को लेकर उठाए जा रहे हर एहतियाती कदम की जानकारी सेंट्रल जू अथारिटी आफ इंडिया को हर दिन भेज रहा है। पूर्व में भेजे गए सेंपल की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। यदि उक्त रिपोर्ट पाजिटिव आएगी तो चिडिय़ाघर को लेकर नए निर्देश भी जारी किए जा सकते हैं। मुकुंदपुर में भले ही कोई पक्षी नहीं हैं लेकिन यहां के जानवरों की सुरक्षा को लेकर एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned