विधायक ने खरीदी केन्द्र पर खुद को कमरे के अंदर किया बंद

कहा-जब तक धान खरीदी नहीं शुरू होगी नहीं निकलेंगे बाहर, मिसिरगवां धान खरीदी केन्द्र का मामला, 15 हजार क्विंटल धान की नहीं हुई तौल

रीवा. सरकार द्वारा धान नहीं खरीदे जाने से खफा भाजपा विधायक प्रदीप पटेल ने धरना शुरू कर दिया है। उन्होंने खुद को केन्द्र के एक कमरे के अंदर बंद कर लिया है और कहा कि जब तक मिसिरगवां केन्द्र पर धान की खरीदी नहीं शुरू की जाती वे बाहर नहीं निकलेंगे। मऊगंज एसडीएम माला त्रिपाठी ने केन्द्र पर जाकर विधायक को समझाने का प्रयास किया है, लेकिन कोई बात नहीं बनी। इस दौरान केन्द्र पर मौजूद किसानों ने एसडीएम को भी ट्रैक्टर से लदी धान दिखाते हुए कहा कि इसकी खरीदी आखिर कब होगी।

जानकारी के अनुसार मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल हनुमना तहसील के मिसिरगवां धान खरीदी केन्द्र पहुंचे। जहां पर किसानों ने उनसे धान नहीं खरीदे जाने की समस्या बताई। किसानों ने बताया कि धान नहीं खरीदी जाएगी तो वे बर्बाद हो जाएंगे। इसपर विधायक केन्द्र के अंदर ही धरने पर बैठ गए हैंं। विधायक पटेल ने बताया कि मिसिरगवां धान खरीदी केन्द्र पर 257 किसानों की 15 हजार क्विंटल धान खुले आसमान के नीचे रखी है। दो दिन के लिए पोर्टल खोला गया। इसके बाद भी सैकड़ों किसानों की धान नहीं खरीदी गई।

बताया कि दो माह से ठंड में किसान अपनी धान की तकवारी कर रहा है। सैकड़ों बोरी धान चोरी भी हो चुकी है। विधायक ने कहा कि सरकार किसानों के नाम पर सत्ता पर काबिज हो गई लेकिन अब किसानों की सुध नहीं ले रही है। खरीदी केन्द्र पर कई दिन से किसान धरने पर हैं। अब विधायक ने भी केन्द्र के एक कमरे में धरने पर बैठ गए हैं और कहा है कि जब धान की खरीदी प्रारंभ नहीं होगी वे कमरे से बाहर नहीं निकलेंगे। विधायक ने कहा कि यदि उन्हें कुछ हुआ तो इसकी जबावदारी शासन-प्रशासन की होगी।

खरीदी केन्द्र पर पहुंची एसडीएम
मिसिरगवां धान खरीदी केन्द्र पर भाजपा विधायक के धरने पर बैठने की जानकारी मिलते ही मऊगंज की एसडीएम माला त्रिपाठी मौके पर पहुंच गई हैं। उन्होंने विधायक से धरना समाप्त करने के लिए कहा है। लेकिन विधायक इस बात को लेकर अड़े हैं कि जब तक किसानों की धान की तौल नहीं होती वे धरना समाप्त नहीं करेंगे। इस दौरान किसानों ने भी अपनी बात एसडीएम के सामने रखी।

Mahesh Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned