शर्मनाक: प्रोफेसर ने की छात्राओं के साथ अश्लील हरकत, अधिकारी कर रहे बचाव, छात्राओं ने शुरू किया अभियान

विश्वविद्यालय पुलिस ने दर्ज कर लिया है एफआईआर...

By: Ajeet shukla

Published: 13 Mar 2018, 01:03 PM IST

रीवा। अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के उस प्रोफेसर के खिलाफ छात्राओं ने हस्ताक्षर अभियान शुरू कर दिया है, जिस पर छात्राओं को अश्लील मैसेज व तस्वीरें भेजने का आरोप है। विश्वविद्यालय छात्रसंघ की अध्यक्ष दीपाली शुक्ला व उपाध्यक्ष वेदवती तिवारी और एबीवीपी के नगर मंत्री विवेक पांडेय के नेतृत्व में यह अभियान शुरू किया गया है।

गिरफ्तारी की कर रहे मांग
विश्वविद्यालय मुख्य गेट पर अभियान के तहत प्रत्येक छात्र-छात्राओं से उनके विचार लिए जा रहे हैं। सभी से हस्ताक्षर भी कराए जा रहे हैं। छात्रसंघ पदाधिकारियों का कहना है कि जब तक प्रोफेसर की गिरफ्तारी नहीं हो जाती है। उनका यह अभियान जारी रहेगा। कॉलेजों में भी यह अभियान शुरू करने की तैयारी है।

थाने में दर्ज कराई गई है एफआईआर
गौरतलब है कि पिछले सप्ताह भौतिकी विभाग के एक प्रोफेसर पर छात्राओं ने उनके वाट्सएप सहित अन्य सोशल नेटवर्किंग साइट पर अश्लील मैसेज व तस्वीरें भेजने का आरोप लगाया है। आरोप लगाने के बाद छात्रों के हंगामे पर विश्वविद्यालय थाना में प्रोफेसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

जांच जारी होने का दे रहे हवाला
हालांकि अभी विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जिसको लेकर छात्रों में आक्रोश है। छात्र-छात्राओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर प्रोफेसर को बचाने के प्रयास का आरोप लगाया है। अधिकारी मामले की जांच जारी होने का हवाला दे रहे हैं।

पिछले कई महीने से कर रहा हरकत
छात्रसंघ पदाधिकारियों ने आरोप लगाया है कि प्रोफेसर पिछले कई महीनों से छात्राओं के सोशल साइट पर अश्लील मैसेज व तस्वीरें भेज रहा है। एक बार विभागाध्यक्ष द्वारा हिदायत देते हुए लिखित माफीनामा भी लिखवाया है। लेकिन इसके बावजूद प्रोफेसर अपनी हरकत से बाज नहीं आया। छात्राओं की माने तो एफआईआर दर्ज होने के बावजूद प्रोफेसर की हरकत जारी है।

अभियान में शामिल हैं ये छात्र
अभियान में छात्रसंघ सचिव रोहित सिंह बघेल, अंशुमान सिंह बघेल, महेश प्रसाद, शुभम सिंह, रोहित, मृत्युंजय मिश्रा, सौरव मिश्रा, अजय कुमार, रोहित द्विवेदी, हिमांशु मिश्रा व भास्कर मिश्रा सहित अन्य छात्र-छात्राएं शामिल रहे। अभियान के तहत अभी तक 12 छात्रों का हस्ताक्षर लिया जा चुका है।

Show More
Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned