बहुचर्चित खाद्यान्न घोटाले में दर्ज हुआ मामला, ट्रक ट्रांसपोर्ट समेत आठ ट्रक मालिक नामजद

सिरमौर से चाकघाट के लिए लोड होकर निकला था खाद्यान्न, 33 ट्रक खाद्यान्न हुआ गायब

By: Shivshankar pandey

Published: 08 Dec 2019, 08:29 PM IST

रीवा। बहुचर्चित खाद्यान्न घोटाले में पुलिस ने शनिवार की रात मामला दर्ज किया है। जांच प्रतिवेदन मिलने पर खयानत का मामला दर्ज किया गया है। जिसमें दो ट्रांसपोर्टर समेत आधा दर्जन से अधिक ट्रक मालिको को आरोपी बनाया गया है। पुलिस अब इस फर्जीवाड़े की जांच में जुट गई है। जांच में कई अन्य लोगों के नाम भी जुडऩे की संभावना जताई जा रही है।

42 ट्रक खाद्यान्न का हुआ था उठाव
जिले में उमरी भेड़हरा विपणन संघ के कैप से ४२ ट्रक गेहूं का उठाव कर चाकघाट गोदाम में महज १३ ट्रक जमा किया। शेष ३० ट्रक गेहूं परिवहनकर्ता ने खुले बाजार में बेच दिया। भेंड़हरा स्थित वेयर हाउस को मिलाकर ३३ ट्रक गेहूं गायब हो गया है। कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव ने एसडीएम त्योंथर की अगुवाई में चार सदस्यीय जांच टीम गठित की। जांच के दौरान ९ हजार क्विंटल से ज्यादा गेहूं गायब होने की जानकारी सामने आयी है। इस पूरे मामले की जांच के लिए एसडीएम के नेतृत्व में कमेटी गठित की गई थी। जांच में फर्जीवाड़ा सामने आने पर खाद्य एवं आपूर्ति विपरण संघ के जिला प्रबंधक बीएन गुप्ता ने शिकायत सिरमौर थाने में दर्ज कराई।

खयानत का दर्ज हुआ मामला
पुलिस ने प्रथम दृष्ट्या धारा 420, 409, 120बी के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने ट्रांसपोर्टर गणेश प्रसाद केशरवानी निवासी चाकघाट, विकास केशरवानी चाकघाट सहित आठ ट्रक मालिकों को नामजद किया है। इस मामले की जांच के लिए रविवार को पुलिस टीम भेडऱहा व उमरी विपरण संघ गोदाम में पहुंची थी जहां फर्जीवाड़े से जुड़े दस्तावेज एकत्र किये गये। मामले की जांच में अभी कई अन्य लोग भी लपेटे में आ सकते है।

ये था पूरा मामला
परिवहनकर्ता सत्यम रोड लाइंस उमरी स्थित भेड़हरा में विपणन संघ के कैप से अक्टूबर और नवंबर में त्योथर तहसील में प्रदाय के लिए ४२ ट्रक गेहूं का उठाव किया है। जिसमें १२ ट्रक चाकघाट गोदाम में जमा कर दिया है। शेष ३० ट्रक गेहूं बाजार में बेच दिया गया है। इसके अलावा वेयर हाउस से जारी किए गए गेहूं में से ३ ट्रक गेहूं का पता नहीं है। कुल मिलाकर २७ के बजाए ३३ ट्रक गेहूं गायब कर दिया है। जांच के दौरान अधिकारियों को सूचना दी गई है कि कुल ९ हजार क्विंटल पीडीएस का गेहूं सत्यम रोड लाइंस चाकघाट के गोदाम में जमा करने के बजाए प्रयागराज में ले जाकर बेच दिया है। जांच शुरू होते ही विपणन संघ के कैप और मध्य प्रदेश वेयर हाउस कारर्पोरशन के अधिकारियों में हड़कंम मचा है। परिवहनकर्ता का काम देखने वाला विकास गुप्ता फरार हो गया है।

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned