ह्वाइट टाइगर सफारी में शावकों की सीसीटीवी से हो रही निगरानी

ह्वाइट टाइगर सफारी में शावकों की सीसीटीवी से हो रही निगरानी
CCTV surveillance of cubs in White Tiger Safari

Mahesh Kumar Singh | Updated: 12 Oct 2019, 09:42:32 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

तीनों शावक स्वस्थ्य, दस दिन बाद खोलेंगे आंखें, प्रबंधन कर रहा विशेष निगरानी

रीवा. ह्वाइट टाइगर सफारी मुकुंदपुर में शेरनी ने तीन शावकों को जन्म दिया है। तीनों शावक में दो शावक स्वस्थ्य बताए जा रहे है, वहीं एक शावक कुछ कमजोर है। ह्वाइट टाइगर सफारी प्रबंधन सीसीटीवी से नव शावकों की मानीटरिंग कर रहा है। टाइगर सफारी के संचालक संजय रायखेड़े ने बताया कि नव शावकों को अलग नाइट हाउस में रखा गया है। उनकी व्यवस्था पर विशेष नजर रखी जा रही है।

टाइगर सफारी में बब्बर शेर की मादा शेरनी जैस्मिन ने तीन शावकों को जन्म दिया है। 10 अक्टूबर की सुबह 6 बजे सफारी में नए मेहमानों के आने के बाद प्रबंधन ने विशेषज्ञों की निगरानी में देख-रेख शुरू कर दी है। इसके लिए सीसीटीवी की मदद ली जा रही है। टाइगर सफारी में पहली बार किसी शेरनी ने तीन शावकों को जन्म दिया है।

तीसरे साल में जैस्मिन ने दिये बच्चे
बताया जा रहा है कान्नपिंडी बिलासपुर से अप्रैल 2018 को बब्बर शेर का जोड़ा मुकुंदपुर के टाइगर सफारी में लाया गया गया है। तब जैस्मिन सिर्फ दो साल की थी। तीसरे साल इस मादा ने इन सावकों को जन्म दिया है। जन्म देने के बाद प्रबंधन द्वारा नियमित मानीटंरिग की जा रही है। जानकारी दी गई है कि डॉ. राजेश तोमर के नेतृत्व में चिकित्सकों की टीम शेरनी की चौबीस घंटे निगरानी कर रही है। प्रबंधन ने उच्च अधिकारियों को इसकी जानकारी दी है।

एक शावक नहीं पी रहा था दूध

सफारी प्रबंधन के कर्मचारी बताते है कि तीन शावकों में दो शावक जहां पूर्ण स्वास्थ्य हैं। वहीं एक शावक जन्म लेने के बाद शेरनी का दूध नहीं पी पा रहा था। लेकिन कुछ समय बात यह शावक भी अब शेरनी का दूध नियमित पीने लगा है। इसके बाद प्रबंधन ने राहत की सांस ली है।

दस दिन बाद खोलेंगे आंखे
नव शावक दस दिन बाद अपनी आंखें खोलेंगे। टाइगर सफारी प्रबंधक ने बताया कि अभी शावक काफी छोटे हंै। लेकिन आगमी दस दिनों के अंदर उनके आंखे खोलने की उम्मीद है। इसके बाद वे इस दुनियां को देख सकेंगे। बताया कि शेरनी जैस्मिन उनका काफी ख्याल रखती है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned