बारिश में केन्द्रों पर भीगा 20 हजार क्विंटल से ज्यादा गेहूं, कलेक्टर ने लगाई फटकार

अनाज भंडारण की जगह नहीं होने से केन्द्र पर तौल बंद होने के दस दिन बाद भी गेहूं खराब हो रहा है। कलेक्टर की समीक्षा के बाद केन्द्रों पर पड़े दो लाख क्विंटल से ज्यादा गेहूं का उठाव हो गया

By: Rajesh Patel

Updated: 11 Jun 2021, 10:48 AM IST

रीवा. जिले में अनाज भंडारण की जगह नहीं होने से केन्द्र पर तौल बंद होने के दस दिन बाद भी गेहूं खराब हो रहा है। कलेक्टर की समीक्षा के बाद केन्द्रों पर पड़े दो लाख क्विंटल से ज्यादा गेहूं का उठाव हो गया। गुरुवार को बारिश के दौरान केन्द्रों पर दस हजार से ज्यादा गेहूं एक बार फिर भीग गया। कलेक्टर इलैयाराजा टी की फटकार के बाद जिम्मेदार जागे।
केन्द्र पर परिवहन के लिए लगाए दस ट्रक
जिले में जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते कई बार गेहूं भीग चुका है। समय रहते गेहूं नहीं सुखाया गया तो कलर काला पड़ जाएगा। बताया गया कि परिवहनकर्ताओं की अनदेखी और गोदाम में जगह नहीं होने के कारण चालू सजीन में परिवहन की व्यवस्था बेपटरी रही। गुरुवार की सुबह बारिश के दौरान गुढ़ पांती में 4 हजार क्विंटल रखा हुआ था। बारिश निकलने के बाद वहां पर दस ट्रक लगाए गए। अभी 1100 क्विंटल गेहूं पड़ा हुआ है। इसी तरह बरौ बैकुंठपुर में गेहूं का उठाव नहीं हो सका है। बारिश के दौरान गेहूं भीग गया।
तौल बंद होने के बाद भी 10 केन्द्रों पर रखा गेहूं
बताया गया कि तौल बंद होने के बाद दस दिन बाद भी अभी 15 से अधिक केन्द्रों पर गेहूं डंप है। कई केन्द्रों पर ट्रक लोढिग़ के दौरान फंस गए। जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते इस पर केन्द्रों पर गेहूं बदरंग हो गया। लंबे समय तक गेहूं का वितरण नहीं हुआ तो गेहूं सडऩे की आशंका बढ़ जाएगी।
केन्द्र पर ट्रक बढ़ाने के बाद भी भीग गया गेहूं
--कलेक्टर हर रोज सुबह दस बजे गेहंू उपार्जन की समीक्षा कर जिम्मेदारों को सक्रिय कर रहे हैं। बताया गया कि ट्रकों को बढ़ाकर परिवहन कराया गया। इसके बाद भी केन्द्र पर गेहंू भीग गया।

Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned