मुख्यमंत्री कल्याण योजना: संभाग में 1.82 लाख श्रमिक पंजीयन का सत्यापन नहीं कर पाए जिम्मेदार

मुख्यमंत्री कल्याण योजना: संभाग में 1.82 लाख श्रमिक पंजीयन का सत्यापन नहीं कर पाए जिम्मेदार

Rajesh Patel | Publish: Sep, 04 2018 12:48:12 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

रीवा में 8.32 लाख और सतना में 6.62 लाख से ज्यादा पंजीयन, कागजी प्रक्रिया पूरी करने में छूट रहा पसीना

 

रीवा. संबल योजना में पंजीयन के बाद सत्यापन की प्रक्रिया कछुआ चाल चल रही है। संभाग में 23.94 लाख से अधिक आवेदनों का रजिस्ट्रेशन कर लिया गया है लेकिन अभी तक 1.82 लाख आवेदनों का सत्यापन नहीं किया जा सका है। इससे श्रमिक पंजीयन कराने वालों के कार्ड जारी नहीं हो सके हैं।

रीवा में साठ हजार आवेदन सत्यापन के लिए बाकी
रीवा, सतना, सीधी और सिंगरौली में अधिकारियों की शिथिलता के चलते पंजीकृत आवेदनों का सत्यापन समय पर नहीं रहा है। जिले में करीब साठ हजार आवेदनों का सत्यापन बाकी है। मजदूर सुरक्षा कार्ड पोर्टल के अनुसार, ग्राम पंचायतों में पंजीयन के 50 फीसदी नाम हटा दिया गया है। इसके अलावा सत्यापन के दौरान भी अपात्र को पात्रता की श्रेणी में डाल दिया गया है, जबकि पात्र श्रमिकों को योजना से बाहर कर दिया गया है। दोबारा सत्यापन में भी कई मामले अधिकारियों के कार्यालय में पहुंचे हैं। रीवा में 8.32 लाख आवेदनों का रजिस्ट्रेशन हुआ है, जिसमें अभी तक सत्यापन का काम पूरा नहीं हो सका है।

आधार नंबर जुटाने में छूट रहा पसीना
आवेदनों के सत्यापन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब आधार नंबर के साथ मोबाइल नंंबर की जानकारी जुटाने में अफसरों का पसीना छूट रहा है। योजना के तहत रीवा में 11599 का पंजीयन हुआ है। सत्यापन की प्रकिया पूरी होने के बाद अभी तक 7893 आवेदकों का आधार नंबर जुटा पाए हैं जबकि 109 लोगों का बचत खाता। 184 आवेदकों का मोबाइल नंबर। इसी तरह जिले के सभी जनपद स्तर पर अधिकारी मजदूर सुरक्षा कार्ड योजना के तहत आवेदकों की डिटेल्स जुटाने में दिक्कत हो रही है।

श्रम पंजीयन की स्थित
रीवा में कुल ८३२५७३ आवेदन आए, जिसमें ५७४७२ सत्यापन के लिए लंबित हैं। इसी तरह सतना में ६६९७१४ आवेदनों में ४१८१३ लंबित हैं, जबकि सीधी में ३८६६१० आदेश हैं। जिसमें २८८११ का सत्यापन बकी है। उधर, सिंगरौली में ५०५३०७ हैं, जबकि वेरीफिकेशन का काम धीमा चल रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned