इस सामाजिक संगठन के पदाधिकारी बोले- मृत्यु भेाज, नशाखोरी जैसी कुरीतियों पर होने वाले खर्च को बचाकर बच्चों की शिक्षा में लगाना होगा

शहर के वार्ड 15 में कोरी समाज की जागरुकता बैठक में वक्ताओं ने कहा कि

By: Rajesh Patel

Published: 17 Mar 2021, 10:55 AM IST

रीवा. शहर के वार्ड नंबर 15 में सामाजिक जागरुकता कार्यक्रम के तहत कोरी समाज की बैठक आयोजित की गई। इस अवसर पर कोरी समाज को शिक्षित करने पर बल दिया गया। मुख्य अतिथि राजेंद्र कोरी रहे। मुख्य वक्ता रामसरण कोरी, राजाराम बुनकर, हरिश्चंद्र सूत्र कार आदि रहे। वक्ताओं ने कहा समाज में व्याप्त कुरीतियां अशिक्षा और अंधविश्वास है नशा मुक्त समाज की स्थापना महान संत कबीर साहब भगवान गौतम बुद्ध और डॉक्टर भीमराव ने की थी। अंबेडकर के विचारों पर चल ही संभव है कि हमें मृत्यु भोज , नशाखोरी, दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों पर होने वाले खर्च को बचाकर बच्चों की शिक्षा में लगाना होगा।
बाबा भीमराव अंबेडर की लिखी पुस्तक हर घर में होनी चाहिए
बाबा साहब द्वारा लिखी गई संविधान की पुस्तक हर घर में होनी चाहिए। संविधान को खुद पढऩा चाहिए और दूसरे को भी पढ़ाना चाहिए। संविधान ने हमें विशेषाधिकार दिए जो बाबा साहब की देन है। संविधान ने हमें शिक्षा नौकरी राजनीति और आरक्षण दिए। राजाराम बुनकर ने कहा राजनीति समाज के विकास की चाबी है जिससे तरक्की के हर ताले खुल सकते हैं। बैठक में रामसिया कोरी, ऋषिकेश कोरी, रामनरेस कोरी, श्रीनिवास कोरी, रामकुमार कोरी, राजकुमार कोरी, रामसिया कोरी, सुरेंद्र कुमार , पप्पू कोरी, नंदू भाई आदि लोग उपस्थित रहे।

Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned