कलेक्टर इलैया राजा टी ने कहा भ्रूण परीक्षण करने वालों का सामाजिक बहिष्कार करें, इनकी खुलेगी फाइल

बेटियों को हर क्षेत्र में समान अवसर देने के लिए लोगों को जागरूक करें दृ कलेक्टर

By: Rajesh Patel

Published: 02 Jul 2020, 11:03 AM IST

रीवा. कलेक्ट्रेट में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को लेकर बैठक आयोजित की गई। अध्यक्षता कलेक्टर इलैयाराजा टी की। कलेक्टर ने कहा कि रीवा पिछले एक वर्ष से शिशु लिंगानुपात में कमी आ रही है जबकि पिछले चार वर्षों से रीवा जिले में लिंगानुपात में वृद्धि हुई थी। जिसके कारण जिले को राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया गया था। शिशुओं का लिंगानुपात घटना बहुत चिंताजनक है। सीएमएचओ सोनोग्राफी सेंटरों पर कड़ी निगरानी रखें। शिशु भ्रूण का निर्धारण, परीक्षण जघन्य अपराध है। ऐसा करने वाले सोनोग्राफी सेंटर संचालक तथा डॉक्टर का सामाजिक बहिष्कार करें। प्रशासनिक स्तर पर उन्हें कठोरतम सजा दिलाए जाने का प्रयास किया जाएगा।

सीसीटीवी कैमरा लगेगा
बैठक में बाल संप्रेक्षण गृह से जून माह में पांच बच्चों के भागने की घटना बहुत दुर्भाग्य पूर्ण है। कलेक्टर ने कहा, लापरवाही बरतने वालों पर कार्यवाही करें। बाल संप्रेक्षण गृह के कमरों तथा परिसर में तत्काल सीसीटीवी कैमरे लगवायें एवं नियमित मॉनीटरिंग करें। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बाल संप्रेक्षण गृह में तैनात सुरक्षा कर्मियों को उचित प्रशिक्षण तथा मार्गदर्शन दें जिससे वे कारगर तरीके से सुरक्षा कार्य कर सकें। यहां रह रहे बच्चों की काउंसलिंग की उचित व्यवस्था करायें। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी यहां रह रहे बच्चों की नियमित स्वास्थ्य व्यवस्था करें।

भ्रूण परीक्षण करने वालों की खुलेगी फाइल
जिले में अब तक भ्रूण परीक्षण में दर्ज किए गए अपराध की फाइलें फिर से खोलने की तैयारी है। कलेक्टर ने अवैध तरीके से भ्रूण परीक्षण के संबंध में दर्ज दो प्रकरणों में वस्तु की जानकारी तलब की है। यक लोक अभियोजक को दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े ने अभियान के संबंध में सुझाव दिये।

Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned