'मैं तुमको अपनी पत्नी बनाऊंगा, यह कहकर आरक्षक मेरे साथ चार साल तक खेलता रहा और जब शादी की बारी आई तो....'

पुलिस ने आरोपी आरक्षक की शुरू कर दी है तलाश

रीवा/ मध्यप्रदेश पुलिस के आरक्षक पर एक युवती ने संगीन आरोप लगाए हैं। शादी के नाम पर वह आरक्षक युवती को कई जगहों पर ले जाकर शोषण किया है। उसकी वर्तमान पोस्टिंग जबलपुर में है। रीवा में युवती ने आरोपी आरक्षक के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस के अनुसार वह आरक्षक अभी फरार चल रहा है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है।


दरअसल, मामला बैकुंठपुर का बताया जा रहा है। यहां रहने वाली एक युवती के साथ उसके रिश्ते के चाचा नहीं बलात्कार किया है। आरोपी अजय साकेत पुलिस विभाग में आरक्षक है और वर्तमान में जबलपुर के मझौली थाने में पदस्थ है। आरक्षक करीब चार साल से उसके साथ बलात्कार कर रहा था। आरोपी उसे बहला फुसलाकर अपने दीदी के घर ले गया, वहां उसने उसके साथ गलत किया।

मैं तुमको अपनी पत्नी बनऊंगा
पीड़िता ने कहा कि वह हमेशा शादी करने की बात करता था। इसी नाम पर वह मेरे शरीर से विभिन्न स्थानों पर खेलता रहा। इस दौरान वह कहता था कि मैं तुम्हें अपनी पत्नी बनाऊंगा। लगातार वह यहीं प्रलोभन देता था। आरक्षक युवती को अपने साथ जबलपुर भी ले गया था। जहां अपने शासकीय आवास में उसे रखे हुए था। कई महीनों तक बलात्कार के बाद उसने युवती से शादी करने से इनकार कर दिया।


थाने में की शिकायत
युवती ने कई बार उसे मनाने का प्रयास किया लेकिन जब वह नहीं माना तो उसने थाने में पहुंचकर शिकायत दर्ज करवा दी। महिला थाने की पुलिस ने आरोपी आरक्षक के खिलाफ धारा 376 के तहत मामला दर्ज किया है। फिलहाल आरोपी फरार बताया जा रहा है। उसके संबंध में पुलिस अब जबलपुर एसपी को पत्र लिखेगी। पुलिस द्वारा लगातार उक्त आरक्षक को बुलाने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन वह नहीं आ रहा था।


छुट्टी पर है आरक्षक
उक्त आरक्षक के संबंध में पुलिस ने मझौली थाने से जानकारी ली तो वह 28 दिसंबर से बीमारी की जानकारी देकर लापता है। जिसके संबंध में खुद विभाग को भी जानकारी नहीं है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि बीमारी के बहाने उक्त आरक्षक लापता है।

रीवा एसपी शिवकुमार वर्मा ने कहा कि आरक्षक के खिलाफ युवती ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी जिस पर बलात्कार का मामला दर्ज किया गया है। आरक्षक जबलपुर जिले के मझौली थाने में पदस्थ है। उसकी तलाश की जा रही है। युवती ने पूर्व में भी शिकायत की थी लेकिन बाद में उसने कार्रवाई न करने के लिए लिखित में दिया था। फिलहाल पूरे मामले की जांच की जा रही है।

आईजी के निर्देश पर कार्रवाई
पीड़िता काफी समय से कार्रवाई के लिए थाने के चक्कर काट रही थी। उसने पूर्व में आवेदन दिया था जिसमें पीड़िता के मुताबिक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। वह शुक्रवार को आईजी कार्यालय पुहंची जहां उन्हें पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। आईजी के निर्देश पर महिला थाने की पुलिस ने मामला दर्ज किया है और पीड़िता का मेडिकल करवाया।

Show More
Muneshwar Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned