कोरोना कर्फ्यू : बाजार में सख्ती के बाद कुछ भीड़ घटी, मोहल्लों की सड़कों भरी

- अवकाश के दिनों का फायदा उठाकर मोहल्लों की सड़कों पर खेल रहे बच्चे

By: Mrigendra Singh

Published: 19 Apr 2021, 11:28 AM IST


रीवा। कोरोना कर्फ्यू के दौरान अनावश्यक कार्यों के चलते लोग घरों के बाहर निकल रहे हैं। जिस पर प्रशासन ने सख्ती शुरू की है। इसका असर यह हुआ कि बाजार क्षेत्र की सड़कें कुछ शांत हुई हैं, यहां आवाजाही लोगों की घटी है। तो वहीं मोहल्लों में सड़कें अब भी पहले की तरह चल रही हैं। यहां पर खासतौर पर बच्चों की संख्या पूरे दिन सड़कों पर अधिक देखी जा रही है। अवकाश के दिनों का फायदा उठाते हुए ये बच्चे पूरी मस्ती करते नजर आ रहे हैं। शहर के प्रमुख बाजारों में तो पुलिस ने पहरा बैठा दिया है, लगातार गश्ती की जा रही है। जिसके चलते कर्फ्यू के दौरान दुकानें कम संख्या में खुल रही हैं। लगातार चालानी कार्रवाई भी नगर निगम एवं पुलिस की ओर से की जा रही है। बाजार का क्षेत्र कुछ शांत नजर आने लगा है लेकिन अभी आवासीय क्षेत्रों में लोग घरों से लगातार बाहर निकल रहे हैं। यहां पर स्थित दुकानें भी खुल रही हैं। हर जगह प्रशासन की टीमें नहीं पहुंच पा रही हैं, इसलिए कार्रवाई भी नहीं हो पा रही है। जिसका फायदा दुकानदार उठा रहे हैं। नगर निगम के आयुक्त ने सभी जोन के प्रभारियों से कहा है कि वह कर्मचारियों को निर्देशित करें कि वार्डों में जाकर वे नियमों का उल्लंघन कर रहे दुकानदारों पर कार्रवाई करें।
---
बुरहानपुर से वापस आए स्कूली छात्र
बुरहानपुर में अध्ययनरत छात्रों को लेकर दो बसें रीवा पहुंची। जिसमें एक बस में 15 और दूसरी में 12 छात्र थे। बताया गया है कि वहां पर जिस हास्टल में छात्र रह रहे थे, उसे प्रशासन ने खाली कराया है। इसलिए सभी छात्रों को उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा है। इस स्कूल में रीवा के 27 छात्र थे जिन्हें वापस पहुंचाया गया है।

------
आक्सीजन का एक टैंकर और आया
रीवा। कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते आक्सीजन की मांग लगातार बढ़ती जा रहा है। रविवार की देर शाम एक टैंकर आक्सीजन संजयगांधी अस्पताल पहुंचा है। फिलहाल आवश्यकता की पूर्ति हो गई है लेकिन यह अधिक दिन तक काम नहीं कर पाएगी। जिस तरह से मरीजों की संख्या तेजी के साथ बढ़ रही है, उससे माना जा रहा है कि अभी और लगातार इसी तरह के टैंकरों की जरूरत पड़ेगी। मेडिकल कालेज के डीन डॉ. मनोज इंदुरकर ने बताया कि पहले मरीजों की संख्या के आधार पर डिमांड थी लेकिन जिस गति से मरीजों की संख्या बढ़ रही है। उसी गति से संसाधनों की भी जरूरत पड़ेगी। उन्होंने कहा कि मरीजों को बेहतर सेवाएं मुहैया कराने के लिए पूरे प्रयास किए जा रहे हैं।
----

COVID-19
Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned