कोरोना की जांच एसजीएमएच में जल्द, टेस्टिंग शुरू

विंध्य के इकलौते सबसे बड़े संजय गांधी अस्पताल को चिकित्सा शिक्षा विभाग ने दिए आदेश, अमली जामा पहनाने में जुटा प्रबंधन, कोरोना जैसे संक्रमण की जांच सहित अन्य क्रिटिकल जांच को लेकर बाहर जाने से मिलेगा छुटकारा

रीवा. श्याम शाह मेडिकल कालेज के संजय गांधी अस्पताल की पैथालॉजी लैब में जल्द ही कोरोना वायरस की जांच प्रारंभ होगी। चिकित्सा शिक्षा विभाग के आदेश पर अस्पताल प्रबंधन योजना को अमली जामा पहनाने में जुट गया है। अस्पताल के कंप्यूटरीकृत पैथालॉजी सेंटर पर ही लैब को मान्य मिलेगी। लैब को व्यवस्थित करने के लिए स्थानीय स्तर पर काम शुरू कर दिया गया है।

चिकित्सा शिक्षा विभाग ने दिए आदेश
विंध्य में सबसे बड़े हॉस्पिटल एसजीएमएच में कोरोना वायरस जैसे कई अन्य संक्रमित रोगों की जांच के लिए सेंपल बाहर भेजे जाते हैं। पैथालॉजी को कंप्यूरीकृत पहले ही किया जा चुका है। पूरे देश में कोरोना वायरस के जांच के सेंपल बढऩे को लेकर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने मेडिकल कालेज के संजय गांधी अस्पताल की जांच लैब में जांच केन्द्र चालू करने की कवायद शुरू कर दी है। चिकित्सा शिक्षा विभाग के आदेश पर संजय गांधी अस्पताल प्रबंधन पैथालॉजी सेंटर पर कोरोना वायरस की जांच की व्यवस्था के क्षेत्र में काम चालू कर दिया है। बताया गया कि जांच किट की उपलब्धता अभी नहीं हुई है।

कंप्यूटर जांच रिपोर्ट सही मिलने पर मिलेगा मान्यता
यहां पर विंध्य के सभी जिलों की जांच के लिए लैब को और आधुनिक बतनाया जाएगा। कोरोना वायरस की जांच चालू करने से पहले एमसीइआई पहले कोरोना जांच का सेंपल एसजीएमच के पैथालॉजी में भेजेगी। जांच की टेस्टिंग रिपोर्ट को एमसीइआई के एक्सपर्ट क्रास जांच करेंगे। जांच रिपोर्ट सही पाए जाने पर जांच के लिए मान्यदता दे दी जाएगी। बताया गया कि चार कंप्यूटर लगाए गए हैँ जहां कर्मचारी चोबिस घंटे बैठेंगे। मेडिकल कालेज की कार्यकारिणी के प्रस्ताव पर यह व्यवस्था पहले ही कर ली गई है। अब उसे जल्द ही आगे बढ़ाई जाएगी। एसजीएमएच में कोरोना सहित अन्य क्रिटिकल जांच चालू होते ही विंध्य के लोगों को जबलपुर जैसे अन्य जगहों पर जांच के लिए बाहर नहीं जाना पड़ेगा।

संभाग से आते हैं मरीज
दरअसल, संजय गांधी अस्पताल में विंध्य क्षेत्र के पन्ना, सतना, सीधी, सिंगरौली, शहडोल सहित अन्य जिले से मरीज आते हैं। ओपीडी में सुबह डॉक्टर जांच के लिए लिखता है तो दो दिन का समय लगता था, लेकिन, इस नई व्यवस्था से राहत मिलने की उम्मीद है। इसके अलावा कोरोना जैसे संक्रमण की जांच के लिए रिपोर्ट जलपुर सहित अन्य जगहों पर भेजना पड़ता था। नई व्यवस्था चालू होते ही रीवा, शहडोल संभाग के साथ-साथ विंध्य के कई अन्य जिले के लोगों को सहूलियत मिलेगी। अभी तक यहां की क्रिटिकल जांचें जबलुपर भेजी जा रही हैं।

वर्जन...
पैथालॉजी सेंटर पर कोरोना जांच अभी नहीं होती है। जांच के लिए प्रक्रिया चल रही है। प्रक्रिया प्रोसेस में चल रही है। जल्द शुरू होने के आसार हैं।
डॉ एपीएस गहरवार, डीन, मेडिकल कालेज रीवा

Corona virus
Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned