संजय गांधी अस्पताल में जल्द प्रारंभ होगी कोरोना वायरस की जांच, पैथालॉजी में पहुंची मशीन

श्याम शाह मेडिकल कालेज की माइक्रो बॉयोलॉजी के चिकित्सक सहित दो लैब साइंटिस्ट को प्रशिक्षण के लिए भेजा जबलपुर

 

By: Mahesh Singh

Published: 31 Mar 2020, 09:40 PM IST


रीवा. श्याम शाह चिकित्सा महाविद्यालय के माइक्रो बायॅलॉजी विभाग की पैथालॉजी में कोरोना की जल्द ही जांच शुरू हो जाएगी। मंगलवार को मेडिकल कालेज से सबद्ध संजय गांधी अस्पताल की पैथालॉजी में जांच मशीन आ गई है। लैब में टेस्टिंग के लिए मेडिकल कालेज के असिस्टेंट प्रोफेशर डॉ प्रमोद कुशवाहा सहित दो साइंटिस्टों को आइसीमएआर यानी नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर रिसर्च इन ट्राइबल हेल्थ जबलपुर प्रशिक्षण के लिए भेजा गया है।

संजय गांधी अस्पताल परिसर में पुराने ओपीडी भवन के प्रथम तल पर वायरोलॉजी लैब स्थापित की गई है। दिल्ली से मशीन रीवा पहुंचने के बाद चिकित्सकों में खुशी की लहर दौड़ गई है। चिकित्सकों का मानना है कि इस सुविधा से लोगों की सूक्ष्म से सूक्ष्म वायरस की जांच हो जाएगी। विंध्य की जनता को सहूलियत मिलेगी। अभी तक कोरोना वायरस की जांच जबलपुर, भोपाल या फिर पुणे जाती थी। लेकिन, अब कोरोना जैसे वायरस सहित अन्य वायरस की जांच रीवा में होगी।

संजय गांधी अस्पताल के अधीक्षक डॉ पीके लखटकिया ने बताया कि मशीन आ गई है। लैब में काम चालू हो गया है। टेस्टिंग के लिए माइक्रो बॉयोलॉजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ प्रमोद कुशवाहा, एमडीआर के साइंटिस्ट डॉ. संजय पांडेय और डॉ विनीत साहू को नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर रिसर्च इन ट्राइबल हेल्थ जबलपुर प्रशिक्षण के लिए भेजा गया है। तीन दिन तक प्रशिक्षण चलेगा। प्रशिक्षण से लौटने के बाद टेस्टिंग प्रारंभ हो जाएगी।

विंध्य की पहली लैब
संजय गांधी अस्पताल में विंध्य की पहली विषाणु प्रयोगशाला होगी। अभी तक इस तरह की लैब इस क्षेत्र में जबलपुर में रही। लेकिन, अब रीवा में भी वायरोलॉजी लैब शुरू हो जाएगी। लैब का निर्माण करीब-करीब पूरा हो गया है। चिकित्सकों की टेस्टिंग टीम के प्रशिक्षण से लौटने के बाद जांच चालू हो जाएगी।

Corona virus
Mahesh Singh Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned