पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ला से नगर निगम आयुक्त ने मानहानि के मांगे पांच करोड़

सार्वजनिक कार्यक्रमों एवं मीडिया में बयान देकर निगम आयुक्त पर मानसिक रोगी होने के आरोप लगाए थे

By: Balmukund Dwivedi

Published: 03 Jan 2020, 06:13 PM IST

रीवा. नगर निगम आयुक्त सभाजीत यादव ने एक बार फिर पूर्व मंत्री राजेन्द्र शुक्ला को नोटिस भेजकर सरगर्मी बढ़ा दी है। इस नोटिस में शुक्ला के उन बयानों का हवाला दिया गया है, जिसमें सार्वजनिक कार्यक्रमों एवं मीडिया में उन्होंने बयान देकर निगम आयुक्त पर मानसिक रोगी होने के आरोप लगाए थे। इन बयानों का हवाला देते हुए आयुक्त ने कहा है कि इससे उनका मानसिक उत्पीडऩ हुआ है। जिसके चलते समाज में हुई इस मानहानि के बदले पांच करोड़ रुपए का भुगतान करें अन्यथा कोर्ट में मामला लेकर जाएंगे। इस नोटिस में आयुक्त यादव ने पूर्व की सरकार पर भी निशाना साधा है और कहा है कि उन्हें टारगेट कर कार्रवाई होती रही है, आइएएस संवर्ग का अधिकारी होने के बावजूद जानबूझकर अलग-अलग स्थानों पर पदस्थ किया जाता रहा है। तीन पेज के इस नोटिस में कहा गया है कि स्कीम छह को लेकर सांसद जनार्दन मिश्रा ने कब्र खोदकर दफनाने की बात कही थी, उसका शुक्ला ने भी समर्थन किया था। यादव ने कहा है कि मैं हिन्दू हूं और परंपरा के अनुशार शव को दफनाया नहीं जाता बल्कि जलाया जाता है। इस तरह के बयानों को समर्थन कर आखिर वे साबित क्या करना चाहते हैं। निगम आयुक्त इस नोटिस के बाद फिर से शहर में राजनीतिक सरगर्मी बढऩे लगी है। इसके पहले आइएचएस डीपी योजना के तहत मकान आवंटन में निगम को आर्थिक नुकसान पहुंचाने पर राजेन्द्र शुक्ला को ४.९४ करोड़ रुपए का नोटिस भेजा था। इसके बाद से भाजपा हमलावर हैऔर निगम आयुक्त के विरुद्ध कई प्रदर्शन हो चुके हैं।

Balmukund Dwivedi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned