लापरवाही में निकल रहा एक शाला-एक परिसर योजना का दम, जानिए शासन की योजना का क्या है हाल

लापरवाही में निकल रहा एक शाला-एक परिसर योजना का दम, जानिए शासन की योजना का क्या है हाल

Ajit Shukla | Publish: Sep, 04 2018 01:09:50 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

50 फीसदी शालाओं का भी संविलियन नहीं...

रीवा। शासन की एक शाला-एक परिसर योजना का जिले में दम निकलता नजर आ रहा है। डेडलाइन खत्म होने के बावजूद शासकीय शालाओं का वरिष्ठ विद्यालयों में संविलियन न हो पाना से कुछ ऐसा ही जाहिर कर रहा है।

31 अगस्त तक निर्धारित रही है डेडलाइन
शासन की योजना के तहत शालाओं के संविलियन के लिए 31 अगस्त की तिथि निर्धारित रही है, लेकिन विकासखंड स्तर के अधिकारियों के उदासीन रवैये के चलते अभी 50 फीसदी शालाओं के संविलियन की प्रक्रिया पूरी नहीं की जा सकी है। जबकि जिला स्तर के शिक्षा अधिकारियों की ओर से इस बावत लगातार दिशा-निर्देश जारी किए जा रहे हैं।

बीआरसीसी कार्यालयों को दी गई है जिम्मेदारी
दरअसल शासकीय माध्यमिक शालाओं में प्राथमिक शालाओं के संविलियन की प्रक्रिया विकासखंड के बीआरसीसी कार्यालयों की ओर से की जानी है। जबकि शासकीय हायर सेकंडरी व शासकीय हाइस्कूल में हाइस्कूल और माध्यमिक व प्राथमिक शालाओं के संविलियन की जिम्मेदारी यहां जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के रमसा सेक्शन को दिया गया है।

बीआरसीसी स्तर पर कछुआ चाल चल रही प्रक्रिया
डीइओ कार्यालय सूत्रों की माने तो रमसा सेक्शन की ओर से अब तक हायर सेकंडरी व हाइस्कूल में 240 हाइस्कूल, माध्यमिक व प्राथमिक शालाओं का संविलियन किया जा चुका है। करीब 32 शालाओं के लिए प्रक्रिया पूरी की जानी है। जबकि विकासखंडों में बीआरसीसी कार्यालय के स्तर पर अभी तक 50 फीसदी शालाओं के संविलियन की प्रक्रिया पूरी नहीं की जा सकी है। इस बावत उन्हें डीइओ कार्यालय से प्रक्रिया को जल्द पूरी करने के लिए नोटिस जारी किया गया है।

एक परिसर का एक होगा मुखिया
एक शाला एक परिसर योजना के तहत हायर सेकंडरी में हाईस्कूल, माध्यमिक शाला व प्राध्यमिक शाला का संविलियन होने के बाद पूरे विद्यालय का एक मुखिया होगा। अभी तक हायर सेकंडरी, हाइस्कूल, माध्यमिक व प्राथमिक शाला का मुखिया अलग-अलग होता रहा है। गौरतलब है कि एक ही परिसर में स्थित हायर सेकंडरी में हाईस्कूल, माध्यमिक व प्राथमिक शाला के संविलियन के अलावा हाइस्कूल में माध्यमिक व प्राथमिक का और माध्यमिक में प्राथमिक का संविलियन होगा।

प्रक्रिया में शामिल स्कूलों की संख्या
161 हायर सेकंडरी व हाइस्कूल
943 शासकीय माध्यमिक शाला
2762 शासकीय प्राथमिक शाला

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned