डेंगू के खिलाफ महाअभियान, लोगों के घरों में पहुंचे संभागायुक्त-कलेक्टर

- शहर के सभी वार्डों में उतरी नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग की टीमें
- निगम आयुक्त भी व्यवस्थाओं की मानीटिरिंग करने सड़क पर उतरे

By: Mrigendra Singh

Published: 16 Sep 2021, 11:36 AM IST


रीवा। डेंगू के बढ़ते मामलों को देखते हुए रीवा सहित पूरे प्रदेश में 'डेंगू पर प्रहार महाअभियानÓ की शुरूआत हुई। संभागायुक्त अनिल सुचारी एवं कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी, निगम आयुक्त मृणाल मीना सहित अन्य अधिकारियों ने इस अभियान की शुरुआत शहर के चिरहुला कालोनी से हुई। जहां पर डेंगू और मलेरिया से बचाव को लेकर लोगों को जागरुक किया गया। इस दौरान लोगों से कहा कि वर्षा ऋतु के उपरांत प्रदेश में वेक्टर जनित रोग मलेरिया, डेंगू एवं चिकनगुनिया का
संक्रमण काल प्रारंभ हो चुका है। इन रोगों से बचाव एवं नियंत्रण में आमजन का सहयोग जरूरी है। संभागायुक्त ने कहा कि अनेक स्थानों पर जल जमाव के कारण डेंगू एवं चिकनगुनिया रोग फैलाने वाले एडीज मच्छर का प्रजनन शुरू हो जाता है तथा नियमित साफ-सफाई न होने के कारण इन मच्छरों के लार्वा बीमारी के उत्पत्ति के रुाोत बन जाते हैं। माह अगस्त से अक्टूबर तक इन बीमारियों का प्रकोप अधिक रहता है। इनके नियंत्रण हेतु जन अभियान प्रारंभ किया गया है ताकि आमजन बीमारियों से बचाव के प्रति सर्तक रहें।
---
कई घरों में कूलर एवं जमा होने वाले पानी को देखा
संभागायुक्त, कलेक्टर एवं निगम आयुक्त ने चिरहुला कालोनी में एसपी परौहा सहित अन्य कई लोगों के घरों में पहुंचकर वहां कूलर एवं अन्य जमा होने वाले पानी के स्थानों को देखा। लोगों को कहा कि वह किसी हाल में पानी को घर पर जमा नहीं रखें। इससे डेंगू के मच्छर तैयार होंगे और उनके परिवार सहित मोहल्ले के लोगों को नुकसान पहुंचाएंगे। डेंगू से बचाव के लिये आवश्यक है कि एक सप्ताह से अधिक समय तक किसी भी स्थान में जल जमा न हो (कूलर, टंकी, गमले, फूलदान, पुराना टायर, बेकार डिब्बे, सकोरे, खाली प्लाट, गड्ढों की सफाई की जाए)।
----
कर्मचारियों ने शुरू किया सर्वे
नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों ने घर-घर सर्वे करने की शुरुआत की है। वह लोगों के घरों में पहुंचकर जमा पानी खाली कराएंगे और डेंगू के प्रति जागरुक करेंगे। साथ ही कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करने के लिए भी कर्मचारियों को लगाया गया है। खाली प्लाटों में जहां पर पानी लंबे समय से जमा है, वहां पर मच्छरों का लार्वा नष्ट करने के लिए दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned