करोडों के निर्माण पूरे हो तो विकास को मिले रफ्तार

शहर में 215 करोड़ के कचरा क्लस्टर प्रोजेक्ट, मॉडल रोड, गैस पाइप लाइन, सीवर लाइन समेत दर्जनों बड़े प्रोजेक्ट के निर्माण कार्यों की कछुआ चाल से धीमी रफ्तार

By: Rajesh Patel

Updated: 30 Sep 2020, 09:14 AM IST

रीवा. जिले में अफसर और नेताओं की अनदेखी के चलते लंबे समय से निर्माणधीन बड़े विकास कार्य पूरे नहीं हो सके । जिले में सडक़, बिजली, पानी, स्वास्थ्य सहित अन्य कई विकास के बड़े प्रोजेक्ट बीते पांच साल से निर्माणाधीन हैं। इस बीच पांच साल के भीतर चार कलेक्टर बदल गए हैं। बावजूद इसके विकास को गति नहीं मिली। वर्तमान कलेक्टर शहर के तीन बड़े प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए निर्माण एजेंसी को डेडलाइन भी निर्धारित की है। निर्माण कार्य समय से पूरे हो तो विकास को रफ्तार मिले।
केस-1
रीवा, सीधी और सतना के 28 नगर पंचायतों के कचरा कलस्टर प्रोजेक्ट शहर में निर्माणाधीन है। 215 करोड़ रुपए का प्रोजेक्टर पांच साल पहले तत्कालीन अफसर और नेताओं ने प्रारंभ कराया था। मॉनीटरिंग के अभाव में अभी तक महज रीवा शहर में कचरा कलेक्शन का काम चालू हुआ है। लेकिन, कचरा से बिजली उत्पादन का काम चालू नहीं हो सका। यही नहीं रीवा को छोड़ इससे जुड़े अन्य शहरों से कचरा का कलेक्शन तक चालू नहीं हो सका है।
केस--2

शहर में 90 करोड़ की मॉडल रोड पर धूल उड़ रही है। रतहरा से चोरहटा तक सडक़ का निर्माण अभी तक पूरा नहीं हो सका। समीक्षा के दौरान अधिकारियों ने जानकारी दी है कि गैस पाइप लाइन बिछाने का कार्य अधूरा है। जिससे सडक़ निर्माण कार्य की रफ्तार धीमी है। निर्माणाधीन सडक़ पर शहरी हिचकोले खा रहे हैं। धूल के गुबार से राहगीरों के साथ ही स्थानीय व्यापारी हालाकान हैं।
केस--3

रीवा-सतना हाइवे का निर्माण आठ से साल से पूरा नहीं हो सका है। कंस्ट्रक्शन कंपनियों के झगड़े में कई साल से विकास कार्य प्रभावित है। कई बार स्थानीय लोगों ने आठ साल के भीतर कमिश्नर से लेकर सांसद, विधायकों से आवाज उठाई लेकिन, किसी के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। अफसर और नेताओं ने बैठकों में चर्चा तो की, लेकिन, नतीजा कुछ नहीं निकला। उस समय जो भी प्रोजेक्ट चालू हुए करीब-करीब पूरे हो गए। लेकिन, रीवा-सतना हाइवे का निर्माण अभी भी फाइनल नहीं हो सका है।
केस--4

शहर में गैस पाइप लाइन बिछाए जाने का कार्य लंबे समय से चल रहा है। अभी तक पूरा नहीं हो सका है। पाइप लाइन का निर्माण करा रही एजेंसी की अनदेखी के चलते काम पूरा नहीं हो सका है। कलेक्टर ने समीक्षा के दौरान पाइप लाइन बिछाने के लिए 31 अक्टूबर तक डेडलाइन निर्धारित की है। चेतावनी दी है कि इसके बाद सडक़ खोदने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
केस--5

शहर में सीवर प्रोजेक्ट का काम कई साल से चल रहा है। कई बार कार्य पूरा करने के लिए मोहल्लों में प्रदर्शन भी किए गए। बावजूद इसके कार्य अभी तक पूरा नहीं हो सका है। मोहल्लों में सीवर लाइन के कार्य को लेकर कई साल से लोगों का गलियों से निकलना मुश्किल होता है।

Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned