डीजल पेट्रोल की बिक्री 85 फीसदी की गिरावट, गैस सिलेंडर की बढ़ी खपत

देश में लॉक डाउन का सबसे अधिक डीजल पेट्रोल की बिक्री में पड़ी है। स्थिति यह है। जिले में डेढ़ लाख लीटर डीजल पेट्रोल की बिक्री 15 से 20 हजार लीटर रोजाना में सिमट गई है। वहीं घरेलू गैस की मांग में 20 से 25 फीसदी तक वृद्धि हुई है।

By: Lokmani shukla

Published: 18 Apr 2020, 07:38 AM IST

रीवा। देश में लॉक डाउन का सबसे अधिक डीजल पेट्रोल की बिक्री में पड़ी है। स्थिति यह है। जिले में डेढ़ लाख लीटर डीजल पेट्रोल की बिक्री 15 से 20 हजार लीटर रोजाना में सिमट गई है। वहीं घरेलू गैस की मांग में 20 से 25 फीसदी तक वृद्धि हुई है। इसके पीछे प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में फ्री सिलेंडर की मिलने के कारण घरेलू गैस सिलेंडरों क मांग बढ़ी है।

बताया जा रहा है कि २२ मार्च के बाद कोरोना संक्रमण को लेकर पूरे देश में लॉक डाउन है। ऐसे में सार्वजनिक परिवहन बंद है। इसके साथ ही खाद्य वस्तुओं के मालवाहक वाहन चल रहे है। वहीं औद्योगिक इकाईया व बड़े निर्माण काम भी बंद है। इसका सबसे अधिक असर डीजल एवं पेट्रोल की बिक्री पर असर पड़ा है। स्थित यह है शहर में सबसे अधिक खपत झिरिया स्थित पेट्रोल पंप जिसकी खपत 15 हजार लीटर तक प्रतिदिन खपत हो रही थी। वहां अब 1 हजार में सीमित हो गया है। इतनी कम खपत होने के कारण पेट्रोल संचालकों की मुश्किल बढ़ी है। पेट्रोल पंप संचालक बताते है कि पेट्रोल डीजल की इससे पहले इतनी खपत काफी नहीं गिरी।

सरकार को नहीं मिल रहा राजस्व-
पेट्रोल व डीजल से सरकार को सबसे अधिक राजस्व मिलता है लेकिन इनकी बिकी घटने कारण सरकार को राजस्व नहीं मिल रहा है। इसी तरह पेट्रोल पंप संचालकों को प्रति लीटर में कमीशन मिलता है। इसमें वह कर्मचारी की वेतन व अन्य खर्चे वहन करते है लेकिन बिक्री नहीं होने से कमीशन कम मिल रहा है। ऐसे में उन्हें कर्मचारियों की वेतन तक निकलना मुश्किल हो रहा है।

उज्जवला ने बढा़ई घरेलू सिलेंडर की मांग
बताया जा रहा है कि घरेल गैस सिलेंडर तीन महीने तक फ्री देना है। इसके लिए खाते में राशि भी सरकार ने दी है। इससे प्रधान मंत्री उज्जवला के हितग्राही सतप्रतिशत सिलेंडर भरवा रहे है। इससे मांग बढ़ी है। इसके पहले 50 फीसदी उपभोक्ता सिलेंडर रिफिलिंग करवाते थे। जिले में सवा २ लाख प्रधानमंत्री उज्जवला में कनेक्शन है।

पेट्रोल डीजल की 85 फीसदी तक बिक्री में गिरावट
पेट्रोल डीजल की 85 फीसदी तक बिक्री में गिरावट आई है। लॉक डाउन व परिवहन बंद होने के कारण यह स्थिति बनी है जबकि इन दिनों मांग वैवाहिक सीजन होने के कारण बढ़ जाती थी। इससे काफी क्षति पेट्रोल पंप संचालकों को उठानी पड़ रही है।
प्रणत कनौडिया

Lokmani shukla
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned