साधारण मारपीट को डॉक्टर ने बना दिया जानलेवा

बैकुंठपुर पुलिस ने दर्ज किया मामला, शासकीय चिकित्सक का कारानामा

रीवा। मनमानी रिपोर्ट तैयार करने के आरोप चिकित्सकों पर आएदिन लगते रहते है लेकिन एक चिकित्सक को फर्जी रिपोर्ट तैया करना महंगा पड़ गया। इस पूरे मामले की जांच के बाद पुलिस ने शासकीय चिकित्सक पर मामला दर्ज किया है जिन्होंने झूठी रिपोर्ट तैयार की थी। फिलहाल चिकित्सक फरार है जिनकी तलाश की जा रही है।

दो बार तैयार की थी रिपोर्ट
मामला बैकुंठपुर थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है। 19 दिसम्बर को बैकुंठपुर थाने में मारपीट की शिकायत आई थी जिस पर पुलिस ने पीडि़त की शिकायत धारा 155 में दर्ज कर उसका मेडिकल कराया था। उसके शरीर में कोई चोट के निशान नहीं थे। पुलिस के पास जब पीडि़त की मेडिकल रिपोर्ट पहुंची तो खुद पुलिस भी हैरान रह गई। डॉक्टर ने मेडिकल रिपोर्ट में जानलेवा चोट लिखी थी जिसके आधार पर फरियादी हत्या के प्रयास का मामला दर्ज करने का दबाव डाल रहा था। पुलिस ने जब पूरे मामले की जांच की तो डॉक्टर की करतूत सामने आ गई।

साधारण रिपोर्ट को बना दिया जानलेवा
डॉक्टर ने बिना चोट के भी रिपोर्ट को जानलेवा बना दिया था। इस मामले की जांच के बाद पुलिस ने चिकित्सक डॉ. बीके गर्ग के खिलाफ धारा 166, 167, 193, 195, 218 के तहत अपराध दर्ज किया है। फिलहाल चिकित्सक फरार है जिनकी तलाश की जा रही है।

ये था पूरा मामला
बैकुंठपुर थाने के हर्दी गांव निवासी आशीष अवस्थी ने अपने चचेरे भाई विद्यासागर अवस्थी के साथ मारपीट की थी जिसमें पीडि़त घायल हुआ था। उसकी शिकायत पर पुलिस ने आशीष अवस्थी के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया था। उसके द्वारा शिकायत दर्ज करवाने पर आरोपी भी थाने रिपोर्ट करने पहुंच गया। उसके शरीर में कोई चोट के निशान नहीं थे जिस पर पुलिस ने पहले धारा 155 के तहत शिकायत दर्ज की और उसे मेडिकल के लिए भेज दिया। दोनों पक्षों का काफी समय से जमीनी विवाद चल रहा है और कई बार उनके बीच मारपीट हो चुकी है। कई शिकायतें भी थाने में लंबित है।

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned