एसजीएमच में डॉक्टर ने एनेमिया से पीडि़त महिला को रक्तदान कर बचाई जान, नर्स ने बच्चे को किया रक्तदान

संजय गांधी अस्पताल में इलाज के दौरान जरूरतमंदों को डॉक्टर व नर्स ने अलग-अलग मरीजों को रक्तदान कर पेश की मिशाल

By: Rajesh Patel

Published: 23 Jul 2021, 11:11 AM IST

रीवा. संजय गांध्ंाी अस्पताल में गुरुवार को दो अलग-अलग जरूरतमंदों को मेडिसिन विभाग में पदस्थ चिकित्सक डॉ राकेश पटेल व स्टाफ नर्स वंदना पांडेय ने रक्तदान कर जान बचाई है। चिकित्सक ने एनीमिया से पीडि़त महिला मुन्नीबाई को रक्तदान किया है। और स्टाफ नर्स ने तीन साल के बच्चे को रक्तदान कर जान बचाई है। दोनों रक्तवीरों ने स्वास्थ्य सेवाएं देने के दौरान रक्तदान कर मानवता का मिशाल पेश की है। इस दौरान रक्तवीरों को प्रयास रक्तदान सेवा संगठन की ओर से सम्मानित किया गया है।

टीच टू ईच संस्था के संस्थापक 22वां रक्तदान किया
संजय गांधी अस्पताल के मेडिसिन विभाग में पदस्थ चिकित्सक डॉ राकेश पटेल टीच टू ईच संस्था के सस्थापक भी हैं। उन्होंने पीडि़त महिला को रक्तदान कर जान बचाने के साथ ही 22वां रक्तदान किया है। इसी तरह संजय गांधी स्मृति चिकित्सालय में पदस्थ स्टाफ नर्स वन्दना पाण्डेय ने थैलेसीमिया से पीडि़त 3 साल के बच्चे को रक्तदान कर जान बचाई है। वंदना के पति समाजसेवी जयकृष्ण पाण्डेय ने कहा रक्तदान मानवीयता का सर्वोत्तम उदाहरण है।

चिकित्सक. स्टाफ नर्स ने रक्तदान की
कोरोना की वैश्विक महामारी हो या सामान्य स्थिति, स्वास्थ्य कर्मी मरीज़ों के जीवन रक्षा के लिए अपनी जान जोखिम में डाल कर सेवा करते हैं। मेडिसिन के वरिष्ठ चिकित्सक सहित स्टाफ नर्स ने सेवा के साथ ही मरीजों की जिंदगी बचाने के लिए रक्तदान कर मिशाल पेश की है। बताया गया कि जीएमएच में तीन साल का आदर्श उपाध्याय निवासी हनुमना को ओ-पॉजीटिव रक्त की आवश्यकता थी। अस्पताल में पदस्थ स्टाफ नर्स वन्दना पाण्डेय ने 1 यूनिट रक्तदान कर मासूम बच्चे को नई जिन्दगी देने का पुनीत कार्य किया गया है।

Doctor saved his life by donating blood to a woman suffering from anemia in SGMch
rajesh patel IMAGE CREDIT: patrika
COVID-19 virus
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned