रोजगार सहायकों ने भाजपा सरकार को उखाड़ फेकने किया ऐलान, जानिए, इसकी वजह

रोजगार सहायकों ने भाजपा सरकार को उखाड़ फेकने किया ऐलान, जानिए, इसकी वजह

Rajesh Patel | Publish: May, 18 2018 12:41:30 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

नियमतीकरण और सहायक सचिव में संविलियन की मांग को लेेकर कलमबंद हड़ताल पर गए रोजगार सहायक

रीवा. सहायक सचिव के पद पर संविलियन और नियमतीकरण किए जाने को लेकर रोजगार सहायक अनिश्चितकालीन कलमबंद हड़ताल पर चले गए। लामबंद रोजगार सहायकों के हड़ताल के चलते 827 ग्राम पंचायतों में काम-काज ठप हो गया है। जिला मुख्यालय पर रीवा जनपद से लेकर गंगेव, हनुमना, मऊगंज, त्योंथर, सिरमौर, जवा सहित अन्य जनपद मुख्यालय पर रोजगार सहायक टेंट लगाकर प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया है।
विपक्ष की भूमिका में रहेंगे रोजगार सहायक
रोजगार सहायकों की हड़ताल 15 मई से चल रही है। गंगेव जनपद कार्यालय परिसर में 88 ग्राम पंचायतों के रोजगार सहायक नियमतीकरण और सहायक सचिव के पद पर संविलियन के लिए नारे लगा रहे हैं। इस दौरान कई वक्ताओं ने कहा कि नियमतीकरण और सहायक सचिव के पद पर संविलियन नहीं किया गया तो भाजपा सरकार के खिलाफ विधानसभा चुनाव में विपक्ष की भूमिका में रहेंगे।
विभागीय मीटिंग में खर्च हो जाता है ९ हजार रुपए मानदेय
रोजगार सहायक पंचायत की सभी योजनाओं का संचालन करते हैं। 9 हजार रुपए मानदेय दिया जा रहा है। इतना ही हर तीसरे दिन मीटिंग में शामिल होने के लिए मुख्यालय का चक्कर लगाने में खर्च हो जाता है। नियमतीकरण के साथ ही वेतन बढ़ाने जाने की मांग उठाई है। रीवा जनपद में देवेस तिवारी की अगुवाई में प्रदर्शन किया। गंगेव जनपद शैलेष सिंह, अजीत पांडेय, संदीप द्विवेदी, रामपूजन, राजीव, सुधाकर, प्रभाकर सहित अन्य रोजगार सहायक मौजूद रहे। इसी तरह अन्य जनपदों में कलमबंद हड़ताल जारी है। सभी जनपदों पर रोजगार सहायक मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।
मनरेगा सहित श्रमिकों का पंजीयन प्रभावित
रोजगार सहायकों के कलमबंद हड़ताल में चले जाने से ग्राम पंचायतों में मनरेगा, असंगठित श्रमिकों का पंजयीन, जन्म एवं मृत्य पंजीयन के साथ ही ऑनलाइन से जुड़े अन्य कार्य पंचायतों के ठप हो गए हैं। रोजगार सहायकों ने बताया कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास, टॉयलेट सहित अन्य कई योजनाएं भी प्रभावित हो गई हैं।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned