स्ट्रांगरूमों में भगवान भरोसे ईवीएम, जानिए क्या है लापरवाही

राज्य चुनाव आयोग ने रीवा, सतना, सिंगरौली और सीधी में क्रास सत्यापन कराया। जांच अधिकारियों को स्ट्रांगरूम में मिली खामियां

By: Rajesh Patel

Published: 09 Dec 2017, 08:20 PM IST

रीवा. संभाग के स्ट्रांगरूमों में चुनाव सामग्रियों का रखरखाव ठीक नहीं है। राज्य निर्वाचन आयोग के चतुर्थ मासिक भौतिक सत्यापन के दौरान रीवा, सतना, सीधी और सिंगरौली जिले के स्ट्रांगरूमों में नियम-कायदे की अनदेखी कर चुनाव सामग्रियां रखी गई हैं। तीन सदस्यीय जांच दल को सतना स्ट्रांगरूम में अग्निशमन यंत्र नहीं मिले। भौतिक सत्यापन के दौरान उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को असुरक्षित होने की आशंका जताते हुए अग्निशमन यंत्र लगाए जाने का निर्देश दिया है।


स्ट्रांगरूम में करीब छह हजार ईवीएम

भौतिक सत्यापन के तहत रीवा संभाग के सभी जिलों में एक दूसरे के जिले के उप जिला निर्वाचन अधिकारियों से स्ट्रांगरूमों में सुरक्षा के 17 बिन्दुओं पर क्रास भौतिक सत्यापन कराया गया। दो दिन पहले रीवा स्ट्रांगरूम का सत्यापन सिंगरौली के उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने किया। सत्यापन के दौरान स्ट्रांगरूम में करीब छह हजार ईवीएम पायी गईं। जांच अधिकारियों ने माना कि ईवीएम रखरखाव बेतरतीब है। ईवीएम रखने का क्रम ठीक पाया गया, कर्मचारियों के द्वारा बताया गया कि स्ट्रांगरूम छोटा होने के कारण ईवीएम की अधिकतर पांक्तियों में एक के ऊपर एक के सीरियल में छह बाक्स रखे गए हैं। जबकि कुछ पाक्तियों में नौ बाक्स रखे हुए थे। प्रति पंक्ति में अधिकतम चार-चार बाक्सों का सीरियल होना चाहिए।

स्ट्रांगरूम में लगे अग्निशमन यंत्र पर एक लेयर धूल पायी
स्ट्रांगरूम में लगे अग्निशमन यंत्र पर एक लेयर धूल पायी गई। इसके अलावा सुरक्षा के अन्य व्यवस्था ठीक पायी गई। इसी तरह दो दिन पहले सतना स्ट्रांगरूम का सत्यापन करने उप जिला निर्वाचन अधिकारी नीलमणि अग्निहोत्री ने किया। स्ट्रांगरूम के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार सतना स्ट्रांगरूम में भौतिक सत्यापन के दौरान स्ट्रांगरूप में अग्निशमन यंत्र नहीं पाया गया। टीम ने अग्निशमन सहित अन्य दस्तावेज ठीक करने के निर्देश दिए। इसी तरह सिंगरौली के स्ट्रांगरूम में मामूली खामियां मिली है। पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं।

इन प्रमुख बिन्दुओं पर की गई जांच
टीम के सदस्यों को स्ट्रांगरूम में कुल 17 बिन्दुओं का भौतिक सत्यापन किया। सत्यापन के दौरान स्ट्रांगरूम में स्टाक मेंटेन है या नहीं, चुनाव सामग्रियों का रखरखाव ठीक है या नहीं। ईवीएम मशीनों का बाक्स क्रम में हैं या नहीं, एक बाक्स में प्रति दस मशीनें रखी हैं या नहीं। सुरक्षा के लिए अग्निशमन यंत्र और गार्ड लगाए गए हैं या नहीं। स्ट्रांगरूम में डबललॉक है या नहीं। खिडक़ी दरवाजे सील है या नहीं। रेन वाटर से सुरक्षित हैं या नहीं। सहित अन्य बिन्दुओं पर जांच की गई।

भोपाल भेजी जाएगी रिपोर्ट
स्ट्रांगरूमों के भौतिक सत्यापन की जांच संबंधित जांच अधिकारी राज्य चुनाव आयोग भोपाल को भेजेंगे। गाइड लाइन के तहत की गई जांच की रिपोर्ट सभी उप जिला निर्वाचन अधिकारी तैयार कर रहे हैं। रिपोर्ट फाइनल होते ही भोपाल भेज दी जाएगी। सूत्रों ने बताया कि अभी सतना के अधिकारियों ने सीधी में जांच नहीं की है।

राज्य चुनाव आयोग को भेजी जाएंगी सीडी
जिला चुनाव कार्यालय में सीडी की जानकारी तैयार करते कर्मचारी
विधानसभा स्तर पर वोटर लिस्ट की जानकारी राज्य चुनाव आयोग को भेजी जाएगी। चुनाव आयोग की ओर से चलाए गए अभियान सहित अन्य योजनाओं की जानकारी सीडी में तैयार कर ली गई है। जल्द ही राज्य चुनाव आयोग को भेज दी जाएगी। इसके अलावा वोटर लिस्ट की हार्ड और साफ्ट कापी जिला निर्वाचन कार्यालय के स्टाकरूम में रखी जा रही हैं। चुनाव कार्यालय में सीडी भेजने की तैयारी चल रही है।

 

 

Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned