हर आपदा अवसर लेकर आती है, ये अपडेट होने का सयम, छात्रों को कॅरियर से जुड़ी जानकारी दे रहे विशेषज्ञ प्रोफेसर


- अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अतुल पाण्डेय ने छात्रों और युवाओं के मन में कैरियर से जुड़ी आशंकाओं के दिए जवाब

By: Mrigendra Singh

Published: 23 Sep 2020, 11:33 AM IST


रीवा। छात्र युवा अवस्था में आने पर अपने कैरियर को लेकर चिंतित होता है। कई बार अध्ययन के लिए सही दिशा नहीं मिलने से भटकाव भी आता है। इसलिए जरूरत होती है कि अपने मन में उत्पन्न हो रहे सवालों का जवाब जानने के लिए किसी विशेषज्ञ के पास जाएं। 'पत्रिकाÓ के पास युवाओं की ओर से आए सवालों का जवाब अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के व्यवसाय प्रबंधन के प्रमुख प्रो. अतुल पाण्डेय ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि छात्र अपने आप को पहले समझें कि वह किस क्षेत्र में काम कर सकते हैं। वर्तमान परिस्थितियों को लेकर निराश नहीं हों, हर आपदा अवसर लेकर आती है। यह समय स्वयं को अपडेट करने का है।
----

सवाल- हायर सेकेंडरी परीक्षा पास करने के बाद ऐसे कौन से कोर्स हैं जिनके जरिए बेहतर भविष्य बन सकता है।
- जवाब-- हायर सेकंडरी के बाद छात्र के मन में एक दिशा तय होने लगती है कि उसकी जिज्ञासा क्या है। आजकल कई नए कोर्स आए हैं, बीए आनर्स मैथमेटिक्स और कामर्स का कांबिनेशन सही आ रहा है। बायोटेक्नालाजी में भी कई नौकरियां आ रही हैं। कामर्स वालों को बीबीए सहित अन्य कई रास्ते हैं। यह लगन पर निर्भर करता है। बीएएलएलबी भी नई राह बना रहा है। व्यवसाय प्रबंधन के कई कोर्स शुरू हुए हैं। कई प्रतियोगी परीक्षाएं हायरसेकंडरी के बाद ही होती हैं उसमें भी हिस्सा ले सकते हैं।
---
सवाल- कालेज पहुंचने पर या स्नातक के बाद संकाय बदलने के क्या फायदे-नुकसान हैं।
- जवाब- संकाय में लगातार बने रहने से पकड़ मजबूत होती है। बीसीए के बाद एमबीए का कंबिनेशन ठीक होता है। मैथ के बाद दूसरे विषय में जाने पर आधार मजबूत होता है। इसके अधिकांश फायदे ही होते हैं। कई क्षेत्रों में पकड़ मजबूत बनती है। कोई समस्या नहीं होती।
े---
सवाल- कोरोना काल में प्राइवेट नौकरी चली गई, घर पर भी ऐसा कोई संसाधन नहीं है, जिससे व्यवसाय खड़ा हो सके, किस क्षेत्र में काम करना चाहिए।

जवाब- यह सच है कि वर्तमान में नौकरियां गई हैं। यह परिस्थिति सौ वर्ष के बाद आती है। स्वयं का पहले आंकलन करें, यूजीसी ने कई शार्ट टर्म के कोर्स भी शुरू किए हैं, उनके जरिए अपडेट्स हो सकते हैं। स्किल डेवपलमेंट भी घर पर कर सकते हैं। समय को पाजिटिव तरीके से बिताएं।
----
सवाल- एमबीए करने के बाद बेहतर जॉब नहीं मिली, खेती से व्यवसाय को कैसे बढ़ाएं।
जवाब- प्रधानमंत्री भी कहते हैं कि जॉब प्रोवाइडर बनें, स्वयं का यदि कोई व्यवसाय खड़ा कर सकते हैं उसे आगे बढ़ाएं। केवल खेती ही नहीं गांव में कई तरह से व्यवसाय कर सकते हैं। फूलों की खेती, डेयरी सहित कई अन्य क्षेत्र हैं।
---
सवाल- रीवा जिले में ऐसा कौन सा क्षेत्र हैं, जहां पर युवा व्यवसाय कर सकते हैं।
जवाब- औषधीय पौधों की खेती, दूध के उत्पाद, बेकरी सहित अन्य कई क्षेत्र हैं जहां पर काम कर सकते हैं। खाद्य प्रसंस्करण की इकाइयां भी छोटे स्तर पर लगाई जा सकती हैं।
--
सवाल- महिलाओं को स्वयं का रोजगार स्थापित करने की किस क्षेत्र में संभावनाएं हैं।
जवाब- डाटा कोडिंग के क्षेत्र में अच्छा काम कर सकती हैं। साफ्टवेयर की कंपनियां भी स्टार्टअप का मौका दे रही हैं। बुटीक, ब्यूटीपार्लर में तो काम है ही। होम मेड में चाकलेट, साबुन, हैंडवॉश सहित कई काम किए जा सकते हैं।
---
सवाल- युवाओं के मन में हताशा आ रही है, वह क्या करें ?
जवाब- जब भी कोई समस्या आती है तो वह अवसर भी लेकर आती है। अब तक अध्ययन करने के लिए बड़े शहर जाना होता था लेकिन अब घर पर ही सभी को कोर्स आनलाइन करने का अवसर दिया जा रहा है। स्किल डेवलप करें, राहें खुलती जाएंगी।
-------------

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned