दिल्ली से अनाज भंडारण की जांच को रीवा पहुंची एफसीआई की टीम, जानिए, फिर क्या हुआ

भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) भारत सरकार की चार सदस्यीय टीम ने पहले दिन पीटीएस गोदाम में सात घंटे स्टाक व दस्तावेज का किया मिलान

By: Rajesh Patel

Published: 13 Jun 2021, 11:34 AM IST

रीवा. भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) भारत सरकार की चार सदस्यीय जांच टीम शनिवार को रीवा पहुंची। टीम गोदाम में रखे धान व चावल के स्टाक की जांच करने के लिए सबसे पहले पीटीएस गोदाम पहुंची। इससे पहले टीम की अगुवाई कर रहे एफसीआई के एसआर साकेत नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक संजय ङ्क्षसह से मुलाकात की। और वर्ष 2020-21 में गोदामों में जमा किए गए धान और वर्तमान में मिलिंग के दौरान जमा किए गए चावल के स्टाक की जानकारी ली।
पीटीएस गोदाम में देखा चावल, धान का स्टॉक
एफसीआई की टीम इसके बाद सुबह 11 बजे पीटीएस गोदाम पहुंची। यहां पर रेकार्ड के आधार पर गोदाम में जमा धान व चावल का स्टॉक का मिलान किया। बताया गया कि एफसीआई की टीम पूरे प्रदेश में हर साल की तरह इस बार भी गोदाम में रखे गए धान व चावल के स्टाक की जानकारी लेंगे। पहले दिन पीटीएस गोदाम में स्टाक देखने पहुंची टीम को गोदाम में करीब 60 हजार क्विंटल चावल डंप मिला। जबकि 18 हजार क्विंटल से अधिक धान मिला है।
पीटीएस में फीफो का नहीं किया गया पालन
पीटीएस गोदाम में स्टाक की गणना करने पहुंची दिल्ली की टीम की रिपोर्ट में करीब 60 हजार क्विंटल चावल जमा पाया गया है। बताया गया कि तत्कालीन जिला प्रबंधक रहे वाइपी त्रिपाठी ने पहले आओ पहले जाओ यानी फीफो के नियम का पालन नहीं किया गया। जिससे पीटीएस गोदाम में सबसे पहले जमा किए गए चावल का उठाव नहीं किया जा सका। तत्तकालीन अधिकारियों ने पहले सिरमौर, चोरहटा और जेपी से चावल का उठाव कराते रहे। नए प्रबंधक ने बताया कि फीफो के पालन के लिए पीटीएस से चावल उठाव का आदेश दिया है।

Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned