किसानों की गाढ़ी कमाई में गड़बड़ी करने वाले प्रबंधकों पर एफआइआर की तैयारी, नोटिस

किसानों की गाढ़ी कमाई में गड़बड़ी करने वाले प्रबंधकों पर एफआइआर की तैयारी, नोटिस
Court imposes fine of ten thousand on Sahara Co-operative Society

Rajesh Patel | Updated: 06 Oct 2019, 12:35:13 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

जिले में किसानों की गाढ़ी कमाई में गड़बड़ी करने वालों की खैर नहीं है, जिला प्रशासन ने सख्त रूप अख्तियार कर लिया है

रीवा. जिले में किसानों की गाढ़ी कमाई में गड़बड़ी करने वालों की खैर नहीं है। जिला प्रशासन ने सख्त रूप अख्तियार कर लिया है। कलेक्टर ने चेतावनी दिया है कि वित्तीय वर्ष 2018-19 सीजन में उपज बेचने वाले किसानों का भुगतान प्रभावित करने वाले चार दिन के भीतर निराकरण कर जानकारी प्रस्तुत करें अन्यथा अमानत में खयानत के तहत पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई जाएगी।

बीते सीजन में 34 केन्द्रों पर मनमानी
जिले में बीते सीजन में धान की तौल के बाद अभी तक समर्थन मूल्य की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। करीब सात माह तक जिले की 34 सहकारी समिति केन्द्रों से जुड़े सैकड़ो किसानों का भुगतान नहीं हो सका था। जिला प्रशासन के तमाम प्रसास के बाद जैसे-जैसे समर्थन मूल्य किसानों के खाते में पहुंची। अभी तक घुरेहठा, पाडऱ, बंधवा सहित कई ऐसे केन्द्र हैं जहां पर किसानों की लाखों रुपए की गाढ़ी कमाई खरीदी केन्द्र से लेकर बैंक के बीच लटका हुआ है।

कलेक्टर ने दिए यह दिए आदेश
कलेक्टर के निर्देश पर जिला आपूर्ति नियंत्रक राजेन्द्र ङ्क्षसह ठाकुर ने किसानों के समर्थन मूल्य की राशि का भुगतान नहीं करने और सीएम हेल्पलाइन पर भुगतान को लेकर की गई शिकायत का समय से निराकरण नहीं किए जाने के मामले में पत्र जारी किया गया है। जिसमें जिला प्रशासन के द्वारा अंतिम चेतावनी दी है कि समय रहते किसानों के समर्थन मूल्य का भुगतान और सीएम हेल्पलाइन पर भुगतान को लेकर लंबित शिकायत का निराकरण कर जानकारी प्रस्तुत करें। अन्यथा अमानत में खयानत के तहत पुलिस में वैधानिक कार्रवाई के लिए पत्र भेजा जाएगा। मामले में संबंधितों को नोटिस भेज दी गई है। समय रहते किसानों की समस्या कर निराकरण की जानकारी जिला नियंत्रक कार्यालय के समक्ष प्रस्तुत नहीं की गई तो कार्रवाई की जाएगी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned