300 वर्ष पुरानी अष्टधातु की चार मूर्तियां बदमाशों ने उड़ाई

गोविन्दगढ़ थाने के हर्दीशंकर गांव में हुई घटना, पुलिस मौके पर पहुंची

By: Shivshankar pandey

Published: 01 Jun 2020, 07:27 PM IST

रीवा। जिले में सिलसिलेवार तरीके से मंदिरों में स्थापित भगवान की बेशकीमती मूर्तियां उड़ाने वाले गिरोह ने एक बार फिर अपनी दस्तक दी है। इस गिरोह ने भगवान की अष्टधातु से निर्मित चार मूर्तियां पार कर इलाके में सनसनी फैला दी।

छत के रास्ते घर में घुसे बदमाश
घटना गोविन्दगढ़ थाने के हर्दीशंकर गांव की बताई जा रही है। यहां रहने वाले अशोक सिंह के घर देर रात बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है। प्रतिदिन की तरह परिजन खाना खाकर अंदर सो गए। रात में शातिर बदमाश दीवाल से कूदकर घर की छत में पहुंचे और वहां से नीचे उतरकर मंदिर के पास आ गए। मंदिर में ताला लगा हुआ था जिसे तोड़कर चोर अंदर रखी अष्टधातु से निर्मित राम, जानकी लक्ष्मण व लड्डू गोपाल की अष्टधातु से निर्मित मूर्तियां, चांदी का छत्र, चांदी का चमर सहित अन्य सामान लेकर चंपत हो गए। बदमाशों ने इतनी सफाई से घटना को अंजाम दिया कि परिजनों को भनक तक नहीं लग पाई।

सुबह हुई घटना की जानकारी
सुबह करीब चार बजे जब उनकी नींद खुली तो घर के प्रवेश द्वार का दवाजा खुला हुआ था। मंदिर में रखी मूर्तियां गायब देखकर उनके होश उड़ गए। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई जिसने घटनास्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान फिंगर प्रिंट एक्सपर्ड वीरेन्द्र पटेल व डाग स्क्वाड की टीम भी मौके पर पहुंची। इस दौरान घर से कुछ दूरी पर भगवान द्वारा पहने गए वस्त्र पड़े मिले जिसे बदमाशों ने उतारा था। पुलिस ने पूरे घटनास्थल का निरीक्षण किया लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं लग पाया है। आशंका जताई जा रही है कि बदमाशों को घर के बारे में पूरी जानकारी थी और वे सिर्फ मंदिर की मूर्तियां ही उड़ाने आए थे। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस अब बदमाशों का सुराग जुटाने में लगी हुई है।

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned