चिकित्सकों की सुरक्षा के लिए कड़ा कानून बनाए सरकार

चिकित्सकों की सुरक्षा के लिए कड़ा कानून बनाए सरकार
Government makes tough laws in protecting doctors

Mahesh Kumar Singh | Updated: 14 Jun 2019, 09:33:03 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

काली पट्टी बांधकर चिकित्सकों ने मनाया प्रतिवाद दिवस, कलेक्टर को सौंपा गया ज्ञापन

 

रीवा. चिकित्सकों की सुरक्षा के लिए सरकार को कड़ा कानून बनाना चाहिए। जिससे चिकित्सक निश्चिंत होकर अपना काम कर सकें। चिकित्सकों के साथ आएदिन जिस प्रकार से मारपीट के घटनाएं हो रही हैं वह अत्यंत चिंताजनक है। इसका विरोध राष्ट्रीय स्तर पर किया जाना चाहिए। जब दूसरे की जान बचाने वाला डॉक्टर खुद सुरक्षित नहीं रहेगा तो वह चिकित्सकीय कार्य कैसे कर पाएगा।

भारतीय चिकित्सक संघ जिला इकाई रीवा द्वारा शुक्रवार को प्रतिवाद दिवस मनाया गया। चिकित्सकों के प्रति हिंसा के विरोध में रीवा के चिकित्सकों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर सुरक्षा की मांग उठाई है। कहा गया कि चिकित्सकों की सुरक्षा हरहाल में सुनिश्चित की जानी चाहिए। चिकित्सकों ने ज्ञापन सौंपकर डॉक्टरों की सुरक्षा व्यवस्था बनाने को कहा है।

बताया गया है कि एनआरएस मेडिकल कॉलेज कोलकाता में हिंसक भीड़ द्वारा चिकित्सकों पर बर्बर हमला किया था। जिसमें डॉ. परिबा मुखर्जी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। इस पर भारतीय चिकित्सा संघ जिला इकाई ने चिकित्सकों के विरूद्ध हिंसा रोकने के लिए राष्ट्रीय कानून बनाने की मांग किया है। साथ ही बाह पर काली पट्टी लगाकर विरोध दर्ज कराया।

ज्ञापन सौंपने में भारतीय चिकित्सक संघ रीवा के अध्यक्ष डॉ. मनोज इंदुलकर, डॉ. एके तिवारी, डॉ. केके परौहा, डॉ. यत्नेश त्रिपाठी, डॉ. आदित्य तिवारी सहित कई चिकित्सक मौजूद रहे। इस दौरान डॉ. मनोज इंदुलकर ने कहा कि कोलकाता में हुई घटना अत्यंत निंदनीय है। इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति ने हो, इसके लिए सरकार सख्त कानून बनाए और दोषियों की पहचान कर कड़ी सजा दी जाए।

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned