नशीली सिरप के आधा दर्जन सप्लायर चिंहित, जिले में पूरी करते हैं डिमांड

आए दिन भेज रहे नशीली सिरप की खेप, पुलिस ने टारगेट में लिया

By: Shivshankar pandey

Updated: 18 Jul 2021, 08:59 PM IST

रीवा। आए दिन यूपी से आ रही नशीली सिरप की खेप पकडऩे के बाद पुलिस ने अब सप्लायरों को टारगेट में लिया है। ये अलग-अलग तरीकों से नशीली सिरप जिले के तस्करों को भेज रहे है। यही कारण है कि पुलिस अब इनको दबोचने का प्रयास कर रही है ताकि सप्लाई में कमी आ सके।

यूपी से आ रही नशीली सिरप की खेप
दरअसल जिले में नशीली सिरप सबसे ज्यादा यूपी से आ रही है। सीमावर्ती प्रदेश होने की वजह से आसानी से नशीली सिरप रीवा पहुंच जाती है जिसके लिए तस्कर अलग-अलग तरीकों का इस्तमाल करते है। एक बार में बड़ी मात्रा में खेप रीवा आ जाती है जिसकी बाद में यहां के तस्कर बिक्री करते है। सप्ताह भर में पुलिस ने दर्जन भर से अधिक खेप पकड़ी है जिसमे तस्कर नशीली सिरप की खेप यूपी से ला रहे थे। एक दिन पूर्व ही विभिन्न थानों में करीब बीस पेटी नशीली सिरप पकड़ी गई है। जनेह पुलिस द्वारा पकड़ी गई11 पेटी नशीली सिरप कुरकुरे के बीच छिपाकर लाई जा रही थी।

सप्लायरों पर कस रही शिकंजा
आए दिन बड़ी मात्रा में पहुंच रही नशीली सिरप की खेप को देखते हुए पुलिस ने अब सप्लायरों की तलाश शुरू कर दी है। प्रयागराज के आधा दर्जन सप्लायर ट्रेस हुए है जो रीवा के तस्करों के संपर्क में रहते है। उनके खाते में रुपए भेजने के बाद वे माल वाहनों में लोड करवाकर भेज देते है। इसके अतिरिक्त काफी संख्या में तस्कर यूपी जाकर खुद नशीली सिरप लेकर आते है। पुलिस अब इन सप्लायरों को दबोचने में लग गई है। इनके पकड़े जाने के बाद नशीली सिरप की आपूर्ति में कमी आयेगी।

तराई के रास्तों का करने लगे इस्तमाल
हाइवे में पुलिस द्वारा लगातार सख्ती बरती जा रही थी जिसके चलते सप्लायरों ने अब तराई के रास्तों का इस्तमाल करना शुरू कर दिया है। वर्तमान में सबसे ज्यादा शंकरगढ़ से जनेह, मानिकपुर से डभौरा होते हुए नशीली सिरप की खेप लाई जा रही है। इसके अतिरिक्त रायपुर सोनौरी व जवा मार्ग का भी तस्कर इस्तमाल कर रहे है। इन मार्गों में भी अब पुलिस ने सक्रियता बढ़ा दी है जिससे जनेह पुलिस ने सप्ताह भर के भीतर बीस पेटी से अधिक नशीली सिरप पकड़ी है।

यूपी पुलिस की नहीं मिलती मदद
नशीली सिरप तस्करी रोकने के लिए यूपी पुलिस की मदद नहीं मिल पाती है। जब भी पुलिस टीम आरोपियों की तलाश में जाती है तो स्थानीय मदद न मिलने से उनको बैरंग लौटना पड़ता है। वहां खुलेआम नशीली सिरप का कारोबार चलता है लेकिन तस्करों पर कार्रवाई नहीं हो पाती है जिससे एमपी पुलिस की मुश्किलें बढ़ गई है।

सप्लायरों की तलाश जारी
नशीली सिरप के सप्लायर चिंहित हुए है जिस पर उनकी तलाश की जा रही है। सप्लायरों को जल्द पकडऩे का प्रयास किया जा रहा है। हाल के दिनों में जितनी भी खेप पकड़ी गई है उनमें ज्यादातर नशीली सिरप उनके द्वारा ही भेजी गई है। उनके पकड़े जाने के बाद नशीली सिरप मंगवाने वाले तस्करों के नाम सामने आए जायेेंगे।
विजय डाबर, एएसपी मऊगंज

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned