इस आइएएस ने बताई राष्ट्रवाद की परिभाषा कहा, दुश्मन देश के एजेंट के रूप में काम करते हैं लापरवाह शिक्षक

इस आइएएस ने बताई राष्ट्रवाद की परिभाषा कहा, दुश्मन देश के एजेंट के रूप में काम करते हैं लापरवाह शिक्षक
IAS said definition of nationalism

Vedmani Dwivedi | Updated: 14 Jun 2019, 12:41:10 PM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने शिक्षकों को पढ़ाया राष्ट्रवाद का पाठ कहा, देश के विकास में शिक्षकों की भूमिका अहम, काम में लापरवाही देश को कमजोर करने जैसा

रीवा. राष्ट्रवाद पर देशभर में छिड़ी बहस के बीच कलेक्टर ओम प्रकाश श्रीवास्वत ने सही मायने में राष्ट्रवाद की परिभाषा बताई है। गुरुवार को रीवा के कृष्णा राजकपूर ऑडिटोरियम में आयोजित शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में शिक्षकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि, यदि एक शिक्षक स्कूल में बच्चों को पढ़ाने में लापरवाही करता है तो वह दुश्मन देश के एजेंट के रूप में काम कर रहा है।

कहा कि, देश के विकास में शिक्षकों की अहम भूमिका है। शिक्षक देश के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। देश की सीमा पर खड़ा सैनिक जिस प्रकार महत्वपूर्ण है ठीक उसी प्रकार आप (शिक्षक) की भी भूमिका है। कहा कि, कोई भी यदि काम में लापरवाही करता है तो वह दुश्मन देश के एजेंट के रूप में काम कर रहा है। समीझा बैठक में संभागायुक्त डॉ. अशोक भागर्व, अपर संचालक नितिन सक्सेना, संयुक्त संचालक अंजनी त्रिपाठी, जिला शिक्षा अधिकारी आर एन पटेल एवं रमसा प्रभारी डॉ. प्रेमलाल मिश्र मौजूद रहे।

इच्छा शक्ति से आएगा सुधार
संभागायुक्त डॉ. अशोक कुमार भार्गव भी बैठक में मौजूद रहे। उन्होंने शिक्षा अधिकारियों एवं शिक्षकों को भरोसा दिलाया कि स्कूल में मौजूद कमियों को दूर किया जाएगा। मौके पर ही शिक्षा विभाग के अधिकारियों को शिक्षकों एवं स्कूल की समस्याओं को दूर करने के निर्देश दिए। जिससे वे स्कूल में शैक्षणिक कार्य अच्छे से कर सकें। कहा कि, स्कूल में प्रमुख रूप से पढ़ाई पर ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत है।

कार्यक्रम में विभाग के अधिकारी प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत कर रहे थे। उसी दौरान कुछ गलतियां मिली। जिसे देखकर आयुक्त डॉ. अशोक भार्गव नाराज हुए। उन्होंने मौके पर ही संबंधित को फटकार लगाई। दरअसल हुआ यह था कि प्रेजेंटेशन के दौरान स्लाइड में अशुद्ध लिखा हुआ था। संबंधित अधिकारी ने कहा कि तकनीकी गलती की वजह से ऐसा हुआ है। कमिश्नर ने कहा कि ठीक करना किसका काम है।

इन विंदुओं पर हुई समीक्षा
शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने स्लाइड के जरिए प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया। इस वर्ष के रिजल्ट की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। प्रदेश में एवं संभाग में जिले की स्थिति बताई गई। टेस्ट परीक्षा के बारे में बताया गया। बच्चों के शैक्षणिक स्तर की रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी स्कूल के रिजल्ट की स्थिति की समीझा की गई। ३० फीसदी से कम एवं ० फीसदी वाली स्कूलों की समीझा की गई।

स्कूल को अपग्रेड करने का आश्वासन
कलेक्टर ओम प्रकाश श्रीवास्तव ने कहा कि, डीएमएफ से हर जन शिक्षा केन्द्र अंतर्गत आने वाले एक स्कूल को अपग्रेड करने का प्रयास किया जाएगा। विभाग की ओर से चयनित कर उसका प्रस्ताव प्रस्तुत करें। प्रभारी मंत्री से स्वीकृत कराकर संबंधित स्कूलों को राशि उपलब्ध करा दी जाएगी। जिससे वे अपनी जरूरत पूरा कर सकेंगे। कलेक्टर ने कहा कि, रीवा जिला शैक्षणिक एवं राजनीतिक रूप से काफी जागरुक है इसके बावजूद खराब रिजल्ट हैरत में डालता है।

शिक्षकों को बढ़ाया हौंसला
संयुक्त संचालक अंजनी त्रिपाठी ने शिक्षकों का हौंसला बढ़ाया। नए सत्र में विभाग के गाइडलाइन के मुताबिक काम कर रिजल्ट में प्रगति लाने के लिए प्रोत्साहित किया। कहा कि पिछले वर्ष की अपेक्षा रिजल्ट में सुधार हुआ है लेकिन इसके बावजूद अभी काफी पीछे है। जिला शिक्षा अधिकारी आर एन पटेल ने शैक्षणिक गतिविधियों से संबंधित प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया। वहीं रमसा प्रभारी डा. पीएल मिश्रा ने निर्माण कार्य से संबंधित प्रेजेंटेशन प्रस्तुत किया।

शिक्षा अधिकारियों ने बताई कार्ययोजना
- जिन शिक्षकों का परीक्षा परिणाम 0 से 30 प्रतिशत के बीच रहा है उनकी दक्षता परीक्षा १२ जून को हुई। परीक्षा परिणाम के विश्लेषण उपरांत निदानात्मक प्रशिक्षण आयोजित किया जाएगा।

- जिन शिक्षकों का प्रदर्शन खराब रहा है ऐसे 50 शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही किए जाने के लिए कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया जा चुका है।

- विज्ञान लैबों की साफ - सफाई एवं उपकरण सुनिश्चित कराया जा रहा है। विज्ञान के शिक्षकों को 25 एवं 26 जून को प्रशिक्षण दिए जाने की योजना है।

- जिन विद्यालयों में अतिथि शिक्षक की व्यवस्था नहीं हो सकी है। वहां अन्य विद्यालयों के विषय शिक्षकों को 3 दिवस में पदस्थ किए जाने की व्यवस्था की जाएगी।

- शिक्षा दान योजना शुरू करने की योजना है। जिसमें अन्य विभाग के अधिकारी भी विद्यालय में जाकर अपने रुचि का एवं संबंधित विषय का अध्ययन अध्यापन में सहयोग करेंगे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned