अस्पताल की चौथी मंजिल से कूदा जेल प्रहरी, मौत

आत्महत्या से पहले शाम पांच बजे तक की थी ड्यूटी

By: Hitendra Sharma

Published: 16 Apr 2021, 07:34 AM IST

रीवा. अस्पताल की चौथी मंजिल से कूदकर देर रात जेल प्रहरी ने आत्महत्या कर ली। घटना से पूरे अस्पताल में परिसर में हड़कंप मच गया। प्रहरी की जेब में सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उन्होंने जबरदस्ती शादी करवाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने शव को मर्चुरी में रखवा दिया। घटना से जेल स्टाफ में हड़कंप मच गया।

केन्द्रीय जेल में पदस्थ प्रहरी नरेश तोमर ने बुधवार की रात यह आत्मघाती कदम उठाया था। देर रात करीब 12 बजे वे संजय गांधी अस्पताल आए थे। वे अस्पताल के अंदर सीधे चौथे मंजिल में पहुंच गए। देर रात वहां कुछ सुरक्षाकर्मियों के अलावा कोई नहीं था। कुछ देर वे वार्ड के बाहर टहलते रहे और अचानक उन्होंने चौथे मंजिल से छलांग लगा दी। घटना से पूरे अस्पताल परिसर में हड़कंप मच गया। मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने तत्काल उनको आकस्मिक चिकित्सा विभाग में पहुंचा जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक परीक्षण के बाद मृत घोषित कर दिया।

मई माह में होनी थी जेल प्रहरी की शादी
जेल प्रहरी की शादी परिजनों ने तय की थी और मई महीने में शादी होनी थी लेकिन शादी के लिए वे तैयार नहीं थे। उनकी मर्जी के बिना घर वालों ने शादी की तारीख भी पक्की कर दी थी। घर वाले उन पर लगातार शादी का दबाव बना रहे थे। शादी को लेकर वे काफी तनाव में थे और इसी तनाव में उन्होंने यह आत्मघाती कदम उठा लिया।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। रात में शव को पोस्टमार्टम के लिए मर्चुरी में रखवा दिया गया है। जेल प्रहरी मृलत: ग्वालियर के रहने वाले थे और जेल की गौशाला में उनकी ड्यूटी लगी हुई थी। बुधवार की शाम पांच बजे तक उन्होंने अपनी ड्यूटी की थी और जेल बंद होने के बाद अपने कमरे में चले गए। रात में अचानक वे कमरे से बाहर निकले और सीधे संजय गांधी अस्पताल पहुंचकर एक आत्मघाती कदम उठा लिया। पुलिस फिलहाल मर्ग कायम कर घटना की जांच कर रही है।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned