लक्ष्मणबाग के पांच मंदिरों की देखरेख पर्यटन विकास परिषद के हवाले होगी

-मंदिरों के रखरखाव ठीक से करने और पर्यटकों को आकर्षित करने के उद्देश्य से बनाई गई कार्ययोजना

By: Mrigendra Singh

Updated: 21 Nov 2020, 09:22 PM IST


रीवा। लक्ष्मणबाग संस्थान के अधीन मंदिरों का ठीक से रखरखाव नहीं होने की वजह से अब पर्यटन विकास परिषद को सौंपने की तैयारी की जा रही है। ट्रस्ट की ओर से इसकी कार्ययोजना तैयार की गई है और अब मंदिरों के जीर्णोद्धार का प्रयास किया जाएगा। साथ ही मंदिरों को शहर के प्रमुख धार्मिक स्थलों में शामिल कराते हुए यहां पर श्रद्धालुओं का आकर्षण बढ़ाने के लिए प्रचार-प्रसार भी किया जाएगा।

कलेक्टर ने लक्ष्मणबाग ट्रस्ट के अधिकारियों के साथ इस कार्ययोजना पर चर्चा करते हुए अंतिम रूप देने का निर्देश दिया है। इन मंदिरों के रखरखाव और जीर्णोद्धार के लिए किए जा रहे इस प्रयास में यदि सफलता मिलेगी तो लक्ष्मणबाग संस्थान के अन्य बड़े मंदिरों को भी इस तर्ज पर रखरखाव करने की योजना बनाई जाएगी। ट्रस्ट का तर्क है कि लक्ष्मणबाग संस्थान की परिसंपत्तियों के संरक्षण के साथ ही उनके धार्मिक महत्व को जन-जन तक पहुंचाकर एक बार फिर यहां पर पर्यटकों को आकर्षित किया जाएगा।

- इन मंदिरों का होगी जीर्णाेद्धार
लक्ष्मणबाग संस्थान द्वारा संचालित किए जा रहे मंदिरों के रखरखाव की जो कार्ययोजना तैयार की गई है उसमें शहर के श्रीमथुरानाथ मंदिर, श्री प्रधानन वाला मंदिर, वैद्यन वाला मंदिर, रामकृष्ण मंदिर एवं खासकलम मंदिर आदि शामिल हैं। ये सभी मंदिर शहर के पुराने हिस्से उपरहटी में हैं। इनका नए सिरे से जीर्णोद्धार करते हुए अब देखरेख का कार्य लक्ष्मणबाग संस्थान और रीवा पर्यटन विकास परिषद द्वारा किया जाएगा।

- सलाहकार की होगी नियुक्ति
संस्थान ने तय किया है कि मंदिरों के रखरखाव और आगे उनका संचालन करने के लिए एक्सप्रेशन आफ इंट्रेस्ट के तहत सलाहकार नियुक्त किया जाएगा। जो यह रूपरेखा तैयार करेगा कि मंदिरों का जीर्णोद्धार किस तरह से किया जाना है। इसमें यह भी ध्यान रखना होगा कि सभी मंदिरों के जीर्णोद्धार के कार्य में एकरूपता भी दिखना चाहिए। इसलिए एक ही तरह का रंगरोगन पांचों मंदिरों में किया जाएगा।

-
लक्ष्मणबाग परिसर में भी होगा विकास कार्य
लक्ष्मणबाग परिसर के मंदिरों के जीर्णोद्धार और परिसर में पेवर ब्लाक लगाए जाने के लिए हाउसिंग बोर्ड को जिम्मेदारी दी गई है। बोर्ड के कार्यपालन यंत्री अनुज प्रताप सिंह के मुताबिक इसकी निविदा प्रक्रिया भी पूरी हो गई है। परिसर को आकर्षक बनाने के लिए 24.64 लाख रुपए की निविदा स्वीकृत हुई है। बताया गया है कि लक्ष्मणबाग परिसर को शहर के प्रमुख पर्यटन केन्द्र के रूप में नए सिरे से विकसित करने की योजना तैयार की जा रही है। इसी के तहत यहां पर परिसर का विकास कार्य कराया जा रहा है।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned