हड़ताल कर रहे जिला सहकारिता बैंक के इतने कर्मचारी होंगे बाहर, सरकार ने दिए यह भी आदेश

मध्य प्रदेश शासन के सहकारिता आयुक्त ने हड़ताल करने वाले कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने जारी किए आदेश

रीवा. जिले में मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे जिला सहकारी बैंक कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने का भोपाल से सहकारिता आयुक्त ने गुरुवार की शाम पत्र जारी कर दिया है। सहकारिता विभाग के संयुक्त आयुक्त ने जिला सहकारी बैंक के मुख्य कार्य पालन यंत्री को पत्र जारी कर कहा है कि केन्द्रीय बैंक कर्मचारी संघ रीवा के द्वारा छठवां वेनमान स्वीकृत के आवेदन का संज्ञान में लिया गया है। इसकी जनकारी भी कर्मचारियों को भेज दी गई है। इसके बावजूद हड़ताल पर जाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के साथ सेवाएं समाप्त किए जाने की कार्रवाई का आदेश दिया है।

70 से 80 कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई
मध्य प्रदेश के सहकारिता के आयुक्त ने कहा है कि सबसे पहले परिवीक्षाधीन कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त की जाएं। शासन स्तर पर पहले से सूचना दी गई है। इसके बावजूद हड़ताल कर रहे हैं। बताया गया कि जिला सहकारी बैंक की २१ शाखाएं हैं। करीब 70 से 80 कर्मचारी काम कर रहे हैं। कुल मिलाकर सैकड़ों कर्मचारियों पर कार्रवाई की तलवार लटक रही है।

तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन
जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक संघ रीवा की हड़ताल चौथे दिन भी जारी रही। गुरुवार को कर्मचारियों ने शहर में जुलूस निकाला और कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। मुख्यमंत्री को संबोधित कर्मचरियों ने हुजूर तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा है।

पांचवें दिन 36 क्विंटल की बोहनी
बताया गया कि तौल चालू होने के पांचवे दिन दो केन्द्र पर 36 क्विंटल धान की बोहनी हुई है। विपणन संघ मऊगंज में एक किसान ने 10 क्विंटल और विपणन हनुमना में 26 क्विंटल धान की तौल की गई है।

Rajesh Patel
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned