परीक्षा में ज्यादा दिन के गैप की मांग कर रहे थे छात्र, जानिए फिर क्या हुआ

परीक्षा में ज्यादा दिन के गैप की मांग कर रहे थे छात्र, जानिए फिर क्या हुआ
medical college mbbs student

Vedmani Dwivedi | Publish: Oct, 28 2018 02:24:25 PM (IST) | Updated: Oct, 28 2018 02:24:26 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

शनिवार को करीब तीन दर्जन स्टेडेंट्स अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय पहुंचे

रीवा. मेडिकल कॉलेज रीवा में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे स्टूडेंट्स आगामी परीक्षा को लेकर डरे हुए हैं। शनिवार को करीब तीन दर्जन स्टेडेंट्स पांच नवंबर से शुरू हो रही परीक्षा की तिथियों में परिवर्तन की मांग को लेकर अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय पहुंचे।

वे परीक्षा की समय सारणी में विषयों के बीच ज्यादा गैप की मांग कर रहे हैं। उनका कहना है कि परीक्षा के दौरान गैप कम दिया गया है ऐसे में उन्हें पढ़ाई के लिए कम समय मिलेगा। कम से कम चार दिन का गैप दिया जाए। हालांकि छात्रों की इस मांग को विश्वविद्यालय प्रबंधन ने मानने से इंकार कर दिया है।

विवि प्रबंधन का कहना है कि छात्रों के तर्क को उचित नहीं ठहराया जा सकता। उकनी मांग पर अमल कर पाना बेहद मुश्किल है।

विश्वविद्यालय ने जो समय सारणी जारी की है उसमें एक-एक दिन का गैप दिया गया है। परीक्षा की तिथि 5 नवंबर से तय की गई है। 5 को मेडिसिन का पहला प्रथम प्रश्न पत्र है। मेडिसिन का दूसरा प्रश्न पत्र 8 नवंबर को है। इसी प्रकार 10 नवंबर, 12 नवंबर, 14 नवंबर, 16 नवंबर एवं 19 नवंबर को परीक्षा की तिथि निर्धारित की गई है।

सभी प्रश्न पत्रों में एक-एक दिन का गैप दिया गया है।

फाइनल पार्ट-2 पूरक बैच एमबीबीएस परीक्षा माह अक्टूबर-नवंबर 2018 का आयोजन किया जा रहा है। परीक्षा केन्द्र श्यामशाह चिकित्सा महाविद्यालय ही होगा। इसी प्रकार प्री-फाइनल एमबीबीएस पूरक परीक्षा अक्टूबर-नवंबर 2018 होने जा रही है।

विश्वविद्यालय, मेडिकल कॉलेज के छात्र-छात्राओं के लिए परीक्षा का जो कार्यक्रम तय करता है वह मेडिकल कॉलेज के प्रस्ताव पर ही तैयार किया जाता है। मेडिकल कॉलेज से जिस तरह का प्रस्ताव मिला था उसी में अपनी व्यवस्था के मुताबिक विश्वविद्यालय ने आंसिक संसोधन कर समय सारणी जारी कर दी। ऐसे में विश्वविद्यालय उसमें परिवर्तन करना नहीं चाह रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned