बिजली की शिकायत सुनने पहुंचे समिति के सदस्य अफसरों को सुनाते रहे दुखड़ा

बिजली की शिकायत सुनने पहुंचे समिति के सदस्य अफसरों को सुनाते रहे दुखड़ा
Members of committee complaint of electricity

Vedmani Dwivedi | Updated: 05 Jun 2019, 11:43:18 AM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

पार्षद ने कहा सूचना देने के बावजूद नहीं पहुंचता सुधार करने वाला अमला , शहर में प्रतिदिन हो रही घंटों कटौती एवं ट्रिपिंग

रीवा. बिजली उपभोक्ताओं की ज्यादा बिजली बिल शिकायत निराकरण के लिए विद्युत वितरण केन्द्रों पर मंगलवार को सुनवाई का आयोजन किया गया। शहर संभाग कार्यालय रीवा में भी समिति के सदस्य सुनवाई करने पहुंचे। उपभोक्ताओं की सुनवाई करने पहुंचे समिति के सदस्य बिजली अधिकारियों के सामने अपना ही दुखड़ा सुनाते रहे।

कोई कहता प्रतिदिन बिजली की कटौती एवं ट्रिपिंग हो रही है। तो कोई कहता सूचना देने के बाद भी मरम्मत करने नहीं पहुंचते।

उल्लेखनीय है कि बिजली उपभोक्ताओं की समस्याओं के निराकरण के लिए प्रत्येक वितरण केन्द्र पर एक समिति का गठन किया गया है। जिसमें ज्यादातर कांग्रेस के स्थानीय नेताओं को समिति का सदस्य बनाया गया है। शहर में जो समिति बनाई गई है उसमें अमहिया वार्ड 23 के पार्षद मो. अकरम अंसारी, नरेश गुप्ता, शहर अध्यक्ष महिला कांग्रेस अर्चना द्विवेदी, उपाध्यक्ष शहर कांग्रेस राजेन्द्र मौजूद रहे। इसके साथ ही बिजली विभाग की ओर से सहायक अभियंता राजस्व सुमंत कुमार एवं आरएस शुक्ला मौजूद रहे।

कहा, वाहन चालक नहीं
वार्ड 23 के पार्षद एवं विद्युत बिल निवारण समिति के सदस्य मो. अकरम अंशारी ने बताया कि पिछले दिनों उनके मोहल्ले की बिजली बंद हो गई। करीब आधा घंटे बाद भी जब बिजली नहीं आई तो उन्होंने बिजली अधिकारियों से संपर्क किया। इसके बावजूद कोई सुधार करने नहीं पहुंचा। दोबारा बात की गई तो कहा गया कि मरम्मत वाले वाहन का चालक नहीं है। उन्होंने कहा कि बिजली विभाग के अधिकारी हो या फिर कर्मचारी कोई सुनने को तैयार नहीं हैं।

भाजपा के इशारे पर हो रहा काम
समिति के सदस्य राजेन्द्र महिंद्रा ने आरोप लगाया कि रीवा में बिजली विभाग के अधिकारी भारतीय जनता पार्टी के इशारे पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि, सरकार बदलने के बाद से ही बार - बार बिजली बंद हो रही है। ऐसी क्या दिक्कत आ गई। बताया कि कई बार उन्होंने खुद शिकायत किया लेकिन समय पर निराकरण नहीं हुआ। कहा कि, जो कर्मचारी मरम्मत के लिए आते हैं वे उपभोक्ताओं से रुपए की मांग करते हैं। कहा कि उनके साथ ही ऐसा ही हुआ।

नहीं हुआ समस्या का निराकरण
शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष अर्चना द्विवेदी ने कहा कि, महज चार शिकायत आई। इसका मतलब यह है कि लोगों में सुनवाई को लेकर जानकारी नहीं थी या फिर बार - बार शिकायत के बाद निराकरण नहीं होने पर उनका विश्वास नहीं रह गया है। कहा कि, बिजली विभाग के अधिकारी अगली बार से सुनवाई को लेकर समुचित व्यवस्था करें। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसका लाभ मिल सके।

महज चार शिकायत
समिति के सदस्य समस्याओं को सुनने के लिए निर्धारित समय दोपहर 12 बजे कार्यालय पहुंच गए। शाम करीब ३ बजे तक बैठे रहे। इस दौरान महज चार उपभोक्ता शिकायत लेकर पहुंचे। उर्रहट मोहल्ले से पद्माकर सिंह, अंबेडकर नगर वार्ड नं. २६ से राम सुंदर कुशवाहा एवं बोदाबाग से मुनीर बक्स ने ज्यादा बिजली बिल की शिकायत की। इसकी शिकायत का निराकरण की कार्यवाही शुरू की गई है। कुछ का मौके पर ही निराकरण किया गया।

93 में से 81 के निराकरण का दावा
बिजली विभाग के मुताबिक शहर संभाग रीवा में 4 शिकायतें प्राप्त हुईं जिसमें से 2 का निराकरण मौके पर कर दिया गया। इसी प्रकार मऊगंज संभाग में 18 शिकायत मिली। जिसमें 18 का निराकरण किया गया। पश्चिम संभाग में 19 शिकायत मिली। 14 का निराकरण किया गया। पूर्व संभाग में 20 शिकायत मिली 16 का निराकरण किया गया। त्यौथर संभाग में 32 में से सभी का निराकृत कर दिया गया। रीवा जिलें में कुल 93 शिकायतों में से 81 शिकायतों का निराकरण मौके पर ही करने का दावा किया गया है।

सुझाव पर अमल होगा
बिजली विभाग की ओर से मौजूद सहायक अभियंता राजस्व विभाग सुमंत कुमार ने कहा कि, समिति की ओर से जो सुझाव मिले हैं उस पर अमल किया जाएगा। जो आवेदन प्राप्त हुए हैं उस पर नियमों के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned