चौकाने वाली रिपोर्ट...एमपी के इस जिले की एक प्रतिशत आबादी फाइलेरिया की चपेट में

चौकाने वाली रिपोर्ट...एमपी के इस जिले की एक प्रतिशत आबादी फाइलेरिया की चपेट में

Dilip Patel | Publish: Mar, 14 2018 12:21:09 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

राष्ट्रीय फाइलेरिया दिवस से शुरू हुआ रीवा में उन्मूलन सर्वे अभियान, वर्तमान में 1012 रोगी हैं रजिस्टर्ड , जिलेभर में 26 बच्चे इसकी चपेट में

 

रीवा। फाइलेरिया उन्मूलन की सोच रहे स्वास्थ्य विभाग के लिए जिले से अच्छी खबर नहीं है। यहां कुल आबादी के एक प्रतिशत लोग फाइलेरिया की चपेट में हैं। मलेरिया विभाग की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है।


रिपोर्ट ट्रांसमिशन एसेसमेंट सर्वे के आधार पर तैयार हुई है। यह सर्वे बीते वर्ष जिले के सभी ब्लॉकों में किया गया था। इसमें बच्चों में संक्रमण की स्थिति पता की गई थी। जहां जिलेभर में 26 बच्चे इसकी चपेट में पाए गए थे वहीं कुल फाइलेरिया के 1012 केस रजिस्टर्ड हुए थे। जिसे देखते हुए राष्ट्रीय फाइलेरिया दिवस 14 मार्च फाइलेरिया दिवस से इसके खिलाफ मलेरिया विभाग ने अभियान शुरू कर दिया है। जिला मलेरिया अधिकारी शीला सोनकर ने कहा कि अभियान के तहत नए सिरे से सभी ब्लॉकों, गांवों में सर्वे होगा। बीते वर्ष रजिस्टर्ड फाइलेरिया के केस में 661 केस हाथीपांव के और 351 केस हाइड्रोसील के हैं। आबादी के एक प्रतिशत लोग चपेट में है। 14,15 और 16 मार्च को कैम्प भी लगाए जाएंगे। जिसमें कमिश्नर कार्यालय के समीप, शिल्पी प्लाजा रोड, कलेक्ट्रेट परिसर, सैनिक स्कूल डिस्पेंसरी और केंद्रीय जेल में कैं प लगाए जा रहे हैं। इसकी तैयारी मलेरिया विभाग ने की है।


हड़ताल का असर
14 मार्च से अभियान शुरुआत हो गई है लेकिन अधिकारियों को संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों और आशा सहयोगिनी की हड़ताल का भय सता रहा है। दरअसल, स्वास्थ्य कार्यकर्ता हड़ताल पर है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के सहारे अभियान है। फाइलेरिया अभियान को पहले ही दिन झटका लगा है। स्वास्थ्य कर्मचारियों की हड़ताल के कारण फाइलेरिया की खुराक बच्चों तक नहीं पहुंच पा रही है।


नर्सिंग छात्रों का लेंगे सहयोग
मलेरिया विभाग फाइलेरिया मुक्त अभियान में निजी नर्सिंग कॉलेजों के छात्रों का सहयोग लेंगे। इसके लिए विंध्याचल नर्सिंग कॉलेज, जेएनसिटी, लार्ड बुद्धा और चौरसिया नर्सिंग कॉलेज से संपर्क किया गया है। नर्सिंग छात्रों की ड्यूटी शहरी क्षेत्र में लगाई गई है। इसकी तैयारी मलेरिया विभाग ने की है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned