पैसों की लालच में विक्षिप्त महिला से की ऐसी दरिंदगी, जानकर खौल उठेगा खून

शहर के मध्य सिरमौर चौराहे में हुई घटना, पेट पालने करती थी भिक्षावृत्ति

By: Balmukund Dwivedi

Updated: 24 Jul 2018, 08:12 PM IST

रीवा. शहर में सक्रिय अपराधियों ने लूट के इरादे से भिक्षावृत्ति करने वाली एक विक्षिप्त महिला की हत्या कर दी और उसके बैग में रखे रुपये लेकर चंपत हो गये। रविवर की सुबह महिला का शव मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया। रोंगटे खड़े कर देने वाली यह घटना सिविल लाइन थाने के सिरमौर चौराहे की है। सिरमौर चौराहा ओवर ब्रिज के नीचे भिक्षावृत्ति करने वाली विक्षिप्त महिला रात में रुकती थी। प्रतिदिन वहां चबूतरे में आकर लेटा करती था। शनिवार की रात उक्त महिला को बदमाशों ने निशाना बनाया है। बदमाशों ने लूटने के इरादे से उस पर हमला कर दिया। पत्थर पटककर उसकी हत्या कर दी। इस दौरान महिला के बैग में रखे रुपये लेकर बदमाश चंपत हो गये।

सोते समय महिला के ऊपर पटका
आशंका जताई जा रही है कि बदमाशों ने सोते समय महिला के ऊपर पत्थर पटका था जिससे उसको संभलने का भी मौका नहीं मिला और चबूतरे के ऊपर ही अत्यधिक रक्त निकलने से महिला की मौत हो गई। रविवार की सुबह स्थानीय लोगों ने महिला का शव देखा जिसकी सूचना पुलिस को दे दी। इस दौरान पुलिस मौके पर पहुंच गई। सीन आफ क्राइम यूनिट के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला ने भी टीम के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया। समीप ही पुलिस को खून से सना हुआ पत्थर भी मिला है। उक्त महिला के बैग में कितने रुपए थे इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है। महिला प्रतिदिन शहर में घूमकर भिक्षावृत्ति करती थी और रात को ओवरब्रिज के नीचे रुका करती थी। वारदात के पीछे नशेडिय़ों का हाथ होने की आशंका जताई जा रही है जो देर रात तक सिरमौर चौराहे में सक्रिय रहते है। पुलिस फिलहाल मर्ग कायम कर घटना की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने परिजनों को दी सूचना
उक्त महिला की पहचान देवकी चतुर्वेदी पति मुद्रिका प्रसाद 50 वर्ष निवासी हर्दी तिवरियान थाना नईगढ़ी के रूप में हुई है। महिला की दिमागी हालत ठीक नहीं थी जिससे वह घर से चली आई थी। शहर में घूमकर भिक्षावृत्ति करती थी। पुलिस की सूचना पर परिजन भी दोपहर रीवा पहुंच गये। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है।

दो साल से ब्रिज के नीचे रहती थी महिला
उक्त महिला पिछले दो सालों से ब्रिज के नीचे ही रह रही थी। परिजनों ने करीब दस सालों से उसकी दिमागी हालत खराब होने की जानकारी दी है। कई बार परिजन उसे वापस घर ले गये लेकिन वे फिर रीवा भाग आती थी। महिला को आसपास के व्यापारी भी पहचानते थे।

Balmukund Dwivedi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned