Rewa : लंबे समय तक सेवा देने के बाद निगम के संपत्ति अधिकारी अरुण मिश्रा सेवानिवृत्त

- सहयोगी अधिकारी, कर्मचारियों ने दी विवाई, कहा अच्छे प्रशासक के रूप में याद किए जाएंगे

By: Mrigendra Singh

Updated: 02 Aug 2020, 10:55 AM IST


रीवा। नगर निगम में लंबे समय तक सेवाएं देने के बाद संपत्ति अधिकारी अरुण मिश्रा सेवानिवृत्त हो गए। इस दौरान कोरोना संक्रमण की वजह से नगर निगम में कोई बड़ा आयोजन तो नहीं किया गया लेकिन जिन अधिकारियों ने लंबे समय तक साथ में काम किया है उन्होंने कार्यालय बुलाकर सम्मान के साथ विदाई समारोह की रस्म अदाएगी की।

बताया गया है कि मिश्रा नगर निगम रीवा के अस्तित्व में आने के समय से सेवाएं दे रहे थे। इसके पहले नगर सुधार न्यास बोर्ड के कर्मचारी रहे हैं। सेवाकाल में कई उतार-चढ़ाव के अवसर भी आए। कुछ महीने पहले ही उन्हें निलंबित किया गया था। यह कार्रवाई सरकार बदलने का खामियाजा के रूप में देखी गई थी, जिस पर तमाम सवाल भी उठाए गए थे। इसके पहले नगर निगम में उपायुक्त की जिम्मेदारी भी इनके पास थी।

सत्तादल भाजपा के नेताओं का आरोप है कि पूर्व में निगम आयुक्त सभाजीत ने जिस तरह से भाजपा के बड़े नेताओं की घेराबंदी की थी, उसके पीछे अरुण मिश्रा की भी बड़ी भूमिका रही है। इसी आरोप की वजह से बीते मार्च महीने में प्रदेश में सरकार बदलते ही पहले आयुक्त सभाजीत यादव का भोपाल तबादला हुआ, फिर अरुण मिश्रा का निलंबन हुआ। निलंबन के दौरान कोई ठोस वजह नहीं बताई गई थी, बाद में कई बिन्दुओं का आरोप पत्र थमाया गया।

भाजपा नेताओं के करीबी अधिकारियों और मिश्रा के बीच तकरार की वजह से यह कार्रवाई मानी जा रही है। निगम के कर्मचारियों का कहना है कि एक अच्छे प्रशासक के रूप में इनका कार्यकाल याद किया जाएगा। निगम के सहायक संपत्तिकर अधिकारी अशोक सिंह, राजस्व निरीक्षक रावेन्द्र सिंह, राजेश सिंह, हेमंत त्रिपाठी, नीलेश चतुर्वेदी आदि ने साल एवं श्रीफल भेंटकर सेवानिवृत्ति के अवसर पर सम्मानित किया।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned