एनसीआरटी पाठ्यक्रम का प्रशिक्षण लेने नहीं पहुंचे 94 शिक्षक, जानिए फिर क्या हुआ री

आधा शैक्षणिक सत्र बीत जाने के बाद शिक्षकों को प्रशिक्षण के दूसरे चरण में 94 शिक्षक गैरहाजिर रहे है। अब इन शिक्षकों को दोबरा प्रशिक्षण का एक और मौका दिया जाएगा। दूसरे में चरण शहडोल व रीवा संभाग के 8 जिलों से अर्थशास्त्र एवं व्यवासिक पाठ्यक्रम को प्रशिक्षण दिया जाना था। इनमें 185 शिक्षक अर्थशास्त्र के लिए अैर 71 शिक्षक व्यवसायिक के लिए चयन किया गया है।

By: Lokmani shukla

Published: 27 Nov 2019, 01:30 PM IST

रीवा। आधा शैक्षणिक सत्र बीत जाने के बाद शिक्षकों को प्रशिक्षण के दूसरे चरण में 94 शिक्षक गैरहाजिर रहे है। अब इन शिक्षकों को दोबरा प्रशिक्षण का एक और मौका दिया जाएगा। दूसरे में चरण शहडोल व रीवा संभाग के 8 जिलों से अर्थशास्त्र एवं व्यवासिक पाठ्यक्रम को प्रशिक्षण दिया जाना था। इनमें 185 शिक्षक अर्थशास्त्र के लिए अैर 71 शिक्षक व्यवसायिक के लिए चयन किया गया है। इन शिक्षकों को जबलपुर से छह मास्टर टे्रनर को पांच दिवसीय एनसीआरटी पाठ्यक्रम पढ़ाने का तरीका बताया जा रहा है।
कक्षा 9 वीं 11 वीं पाठ्यक्रम में एनसीआरटी को किताबें लागू होने के बाद शिक्षकों ने पढ़ाने में आ रही कठिनाइयों को लेकर शिकायत की थी। इसके बाद नीद से जागे स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने संभागीय स्तरीय पांच दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण आयोजित किया है। इसके दूसरे चरण में रीवा एवं शहडोल संभाग के अर्थशास्त्र विषय के 185 शिक्षकों को बुलाया गया है। इस पर 110 शिक्षक ही प्रशिक्षण शिविर में पहुंचे है। 75 शिक्षक अनुपस्थित रहे। इसके अतिरिक्त व्यवसायिक परीक्षा के लिए 71 शिक्षको को बुलाया गया था। इनमें सिर्फ 52 शिक्षक ही अनुपस्थित है। प्रशिक्षण में अनुपस्थित शिक्षकों ने किसी भी प्रकार की सूचना नहीं दी है। इस पर इन शिक्षकों को नोटिस जारी किया है।

पहले दिन अव्यवस्था देख शिक्षक परेशान-
बीएड महाविद्यालय में आयोजित प्रशिक्षण शिविर मेंं पहले व्यापक स्तर में अव्यवस्था देखने को मिली। शिक्षक जानकारी के अभाव में इधर उधर भटकते रहे है। वहीं बैठक की खाने पीने तक व्यवस्था बेहतर नहीं रही है। बताया जा रहा है कि प्रशिक्षण को लेकर आधी तैयारी को लेकर व्यापक अव्यवस्था शिक्षकों ने आपत्ति जताई है।

Lokmani shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned