सरकारी दफ्तरों में कोरना पॉजिटिव मिलने के बाद भी सेनेटाइजेशन में लापरवाही

-रीवा में कोरोना संक्रमितों की संख्या 600 पार

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 26 Aug 2020, 02:58 PM IST

रीवा. एक तो कोरोना का संक्रमण लगातार तेज होता जा रहा है। कुछ आमजन इसके लिए जिम्मेदार हैं तो कई सरकारी अमला जो इस वैश्विक महामारी पर नियंत्रण के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार हैं उनके स्तर से भी व्यापक पैमाने पर लापरवाही बरती जा रही है। खास तौर से नगर निगम प्रशासन की आदतों में कोई सुधार नहीं दिख रहा। आलम यह है कि किसी सरकारी दफ्तर में काम करने वाला भी अगर कोरोना संक्रमित पाया जा रहा तो भी निगम के कर्मचारी सेनाटाइजेशन के लिए भी नहीं आ रहे। ऐसे में कर्मचारियों में इतना भय है कि वो दफ्तर के बाहर बैठ कर काम करने को विवश हैं।

जानकारी के मुताबिक कोठी कंपाउंड में संचालित उद्यायिनिक विभाग के कर्मचारी भयभीत है। उन्होंने बताया कि कार्यालय के अधिकारी कोरोना मरीज पाए गए हैं। तीन दिन निकल जाने के बाद भी नगर निगम ने कार्यालय को सैनिटाइज नहीं किया है जिसके चलते कार्यालय का स्टाप बाहर बैठ कर काम कर रहा है, जबकि निगम से महज चंद कदम की दूरी पर यह कार्यायल है।

साफ-सफाई के लिए आम नागरिकों को तो बार-बार सचेत किया जा रहा है। जुर्माना तक लगाया जा रहा है। लेकिन नगर निगम जैसे अति जिम्मेदार महकमे की लापरवाही ने लोगों को सशंकित कर रखा है। जिले में कोरोना संक्रमण पर लगाम लगता नहीं दिख रहा। रोजाना जिस तरह से संक्रमित मरीज बढ़ रहे हैं उससे प्रशासन हलकान है तो आमजन में भय समाया हुआ है। आलम यह है कि जिले में कोरोना मरीजों की तादाद साढ़े छ सौ के आसपास पहुंच गई है।

24 घंटे के अंदर जिले में कोरोना के 12 मरीजों का पता चला है। इनमें 05 मरीज शहरी क्षेत्र के जबकि 07 मरीज ग्रामीण अंचल से हैं। इसके बाद जिले में कोरोना मरीजों की सख्या अब 643 हो गई है। प्रशासन ने सभी को कोविड सेंटर में भर्ती करवाया है। साथ ही मरीजों के सम्पर्क में आने वाले लोगो की जानकारी एकत्र की जा रही है।

शहर में जिन पांच लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है, उनमें मुख्य बाजार का एक जूता व्यापारी तथा शहर के घानी आबादी वाले क्षेत्र का चक्की संचालक हैं। इसी तरह शहर के बोदाबाग सहित अन्य स्थानों में कोरोना मरीज पाए गए है। इतना ही नहीं चोरी के मामले में गिरफतार आरोपी भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसकी जानकारी लगने के बाद सिटी कोतवाली थाना का स्टाप सकते में आ गया।
उधर कोठी कंपाउंड में संचालित उद्यायिनिक विभाग के कर्मचारी भयभीत है। उन्होंने बताया कि कार्यालय के अधिकारी कोरोना मरीज पाए गए हैं। तीन दिन निकल जाने के बाद भी नगर निगम ने कार्यालय को सैनिटाइज नहीं किया है जिसके चलते कार्यालय का स्टाप बाहर बैठ कर काम कर रहा है, जबकि निगम से महज चंद कदम की दूरी पर यह कार्यायल है।

Corona virus
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned