MP में चुनाव कार्य में लापरवाही, फंसे 15 अधिकारी

जिला निर्वाचन अधिकारी ने चेतावनी दी है कि जवाब नहीं आने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी

By: Manoj singh Chouhan

Published: 19 Jan 2019, 07:14 PM IST

रीवा. वोटर लिस्ट के पुनरीक्षण कार्यक्रम में लापरवाही बरतने वाले डीआर, सहायक यंत्री सहित विभिन्न विभागों के १४ अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने चेतावनी दी है कि जवाब नहीं आने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। भारत निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन के तहत जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों के सभी मतदान केन्द्रों पर मतदाता सूची के पुनरीक्षण की कार्यवाही की जा रही है।

इसकी निगरानी के लिए दस-दस मतदान केन्द्रों पर पर्यवेक्षक अधिकारी तैनात किए गए हैं। इन अधिकारियों को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने नियमित रूप से मतदान केन्द्रों के निरीक्षण के निर्देश दिए हंै। मतदाता सूची पुनरीक्षण के दौरान 14 अधिकारियों द्वारा मतदान केन्द्रों के निरीक्षण तथा मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य में लापरवाही बरती गई। उनके द्वारा समीक्षा बैठकों में भी भाग नहीं लिया गया। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने इन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। नोटिस का तीन दिन के अंदर संतोषजनक जवाब नहीं देने पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।

इनको दी नोटिस
जिला निर्वाचन अधिकारी ने लापरवाही बरतने पर हीरालाल पटेल सहायक यंत्री पीएचई, केशर सिंह डावर कृषि विभाग, कमलाकान्त गर्ग लोक निर्माण विभाग, निर्मला शर्मा परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग तथा विनय कुमार श्रीवास्तव सहायक यंत्री लोक निर्माण विभाग को नोटिस दिया है। प्रीति द्विवेदी परियोजना संचालक आत्मा परियोजना कृषि विभाग, सुभाष द्विवेदी कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी, सुषमा मिश्रा सीएमओ गोविंदगढ़ को भी नोटिस दिया है। वहीं केपीएस परिहार सहायक संचालक उद्यान, सीमा गाजू परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास, डीआर बसंत निरीक्षक फर्म एवं संस्थायें तथा अभिषेक पवार सहायक यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा को भी कारण बताओ नोटिस दी गई है।

mp kamalnath
Show More
Manoj singh Chouhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned