scriptNon standard firecrackers banned on Diwali for environmental protection | पर्यावरण संरक्षण को दीपावली पर अमानक पटाखे प्रतिबंधित | Patrika News

पर्यावरण संरक्षण को दीपावली पर अमानक पटाखे प्रतिबंधित

-सर्वोच्च न्यायालय और एनजीटी पहले ही अमानक पटाखो पर लगा चुका है प्रतिबंध

रीवा

Published: November 04, 2021 04:24:44 pm

रीवा. सर्वोच्च न्यायालय और राष्ट्रीय हरित अभिकरण (एनजीटी) के निर्देशों के तहत कलेक्टर इलैयाराजा टी ने जिले में अममानक पटाखे प्रतिबंधित कर दिया है। कलेक्टर ने इस संबंध में सभी प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को इस पर कड़ी नजर रखने को कहा है ताकि जिले में कहीं भी तेज आवाज और पर्यावरण व इंसान को नुकसान पहुंचाने वाले पटाखे न छोड़ जाएं।
अमानक पटाखा बिक्री पर लगा प्रतिबंध
अमानक पटाखा बिक्री पर लगा प्रतिबंध
कलेक्टर ने कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय व एनजीटी के आदेश का उल्लंघन करने वालों पर विस्फोटक नियम 84 तथा भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई होगी। कलेक्टर ने कहा है कि पूरे जिले में धीमी आवाज और न्यूनतम कार्बन उत्सर्जन वाले उन्नत श्रेणी और ग्रीन पटाखे ही छोड़े जा सकेंगे। पुलिस व प्रशासनिक अफसरों को गुपचुप तरीके से भंडार करने और बेचने वालों पर सख्त कार्रवाई करने को कहा गया है।
कलेक्टर ने कहा है कि दीपावली व आगे आने वाले त्योहारों पर रात 8 से 10 बजे तक दो घंटे ही पटाखे छोड़े जा सकेंगे। उन्होंने कहा है कि अगले महीने क्रिसमस और नववर्ष के मौके पर रात 11 बजकर 55 मिनट से 12 बजकर 30 मिनट तक पटाखे फोड़े जा सकेंगे।
आदेश के अनुसार ग्रीन पटाखों के लिए पेट्रोलियम एवं विस्फोटक सुरक्षा आर्गनाइजेशन तथा नेशनल इन्वायरमेंटल इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टीटक्कूट द्वारा पंजीकृत ग्रीन पटाखों के निर्माताओं की सूची के अनुसार ही विक्रय किया जाएगा। इनके अंतर्गत फुलझड़ी, अनार तथा मेरून आते हैं। बेरियम साल्ट का उपयोग करके बनाए गए पटाखे पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेंगे। एंटीमनी, लीथियम, मर्करी, आर्सेनिक, स्ट्रांशियम क्रोमेट एवं लेड के उपयोग से बनाए गए पटाखों की बिक्री व उपयोग पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। पटाखों का ऑनलाइन तथा ई कामर्स के जरिए भी क्रय एवं विक्रय प्रतिबंधित रहेगा।
कलेक्टर ने कहा है कि जिले के अस्पताल, नर्सिंग होम, जिला चिकित्सालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, शिक्षण संस्थान, न्यायालय, धार्मिक स्थलों तथा शांत क्षेत्र घोषित एरिया से 100 मीटर की परिधि में पटाखे नहीं छोड़े जा सकेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.