बिजली बिल का भुगतान नहीं कर रहे अधिकारी, रीवा संभाग में सर्वाधिक राशि

- जल संसाधन विभाग के मुख्यालय से कार्यपालन यंत्रियों के पास आया निर्देश
- 31 मार्च के पहले बिजली बिल का भुगतान कराने के निर्देश मिले


रीवा। सरकारी विभागों द्वारा बिजली बिलों का भुगतान समय पर नहीं किए जाने की वजह से लगातार राशि बढ़ती जा रही है। विभागों की ओर से बिजली कंपनी को कोई पत्राचार भी नहीं किए जा रहे, इस कारण कंपनी ने कुछ दिन पहले ही सभी संबंधित विभागों को पत्र भेजकर बिल की राशि जमा करने की मांग उठाई है। जलसंसाधन विभाग के पास पहुंचे इस पत्र के बाद विभाग हरकत में आ गया है।

प्रमुख सचिव के निर्देश पर विभाग के मुख्यालय ने गंगा कछार के मुख्य अभियंता सहित सभी संबंधित जिलों के कार्यपालन यंत्रियों को पत्र लिखकर कहा है कि समय पर बिजली बिल की राशि का भुगतान कराएं। मध्यप्रदेश के पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा बकाया बिलों का ब्यौरा जलसंसाधन के अधिकारियों को भेजा गया है। इसमें रीवा संभाग के सभी जिले सर्वाधिक बकायादारों में शामिल हैं।


- दिसंबर तक का बिल जमा कराने के निर्देश
सरकारी विभागों द्वारा सामान्यतौर पर बिजली बिल की राशि एक मुश्त जमा कराई जाती है। बिजली कंपनी ने दिसंबर 2019 की स्थिति में बकाया बिल का डिटेल्स सौंपा है। कुछ जिलों में राशि पहले जमा कराई गई थी, इस कारण वहां की राशि कम है। जलसंसाधन विभाग ने जिन जिलों को बकाया बिजली बिल का भुगतान आगामी 31 मार्च के पहले कराने का निर्देश दिया है, उसमें प्रमुख रूप से रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, जबलपुर, मंडला, डिंडोरी, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट, कटनी, छिंदवाड़ा, सागर, दमोह, टीकमगढ़, छतरपुर एवं पन्ना आदि जिले शामिल हैं।


- समायोजन भी नहीं करा पा रहे अधिकारी
विभागों को एक-दूसरे पर बकाया सामान्य प्रक्रिया है। जलसंसाधन विभाग का भी कुछ जगह बकाया है। पूर्व में एक और आदेश गंगा कछार के मुख्य अभियंता के पास आया था, जिसमें निर्देश था कि रीवा संभाग में जिन सरकारी विभागों का बकाया है, उनमें यदि जलसंसाधन विभाग की भी राशि लेना है तो ऐसे कार्यालय प्रमुखों से संपर्क कर समायोजन कराएं। बताया गया है कि विभाग के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से अब तक कई स्थानों पर राशि का समायोजन नहीं कराया जा सका है। जलसंसाधन और नगर निगम रीवा का इसी को लेकर विवाद भी चल रहा है।


- बकाया बिल की स्थिति
जिला--- बकाया राशि
रीवा- 90.56 लाख
सतना- 23.75 लाख
सीधी- 20.58 लाख
सिंगरौली- 0.26 लाख
शहडोल- 26.64 लाख
अनूपपुर- 0.41 लाख
उमरिया- 0.25 लाख
----------

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned