गर्लफ्रैंड को मनचलों से बचाने प्रेमी ने रची ऐसी खौफनाक साजिश..

मोहब्बत की खातिर खौफनाक साजिश रचने के कई मामले सामने आए हैं लेकिन रीवा में एक युवक ने ऐसी खौफनाक साजिश रची जिसे जानकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे...

By: Shailendra Sharma

Updated: 25 Jun 2020, 06:54 PM IST

रीवा. वो जिससे मोहब्बत करता था उसे कुछ लड़के परेशान करते थे और इसी वजह से उसने एक ऐसी खौफनाक साजिश रच डाली जिसने उसे जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया। खौफनाक साजिश का ये मामला रीवा का है जहां एक महीने पहले हुए एक अंधेकत्ल की गुत्थी जब सुलझी तो पुलिस भी हैरान रह गई। आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने और प्रेमिका को परेशान करने वालों को फंसाने के लिए कत्ल की वारदात को अंजाम दिया था ।

 

murder_2.jpg

ऐसे रची खौफनाक साजिश
आरोपी युवक का नाम मनोज ऊर्फ आकाश साकेत है जो शिकारगंज थाने के रामपुर नैकिन गांव का रहने वाला है। पुलिस ने जब मनोज से पूछताछ की तो उसने खौफनाक साजिश का राज खोलते हुए बताया कि वो बिछिया थाने के कोठी गांव में रहकर मजदूरी करता था और वहीं पर उसका गांव की एक लड़की से प्रेम-प्रसंग चलता था। चार युवक अक्सर उसकी प्रेमिका को परेशान करते थे और इसी के कारण उसने उन लोगों को सबक सिखाने की ठानी। वो प्रेमिका को परेशान करने वाले युवकों को किसी भी तरह से फंसाना चाहता था और इसी दौरान उसकी मुलाकात एक बाहरी युवक संतोष त्यागी से हुई। संतोष कहीं बाहर से आया था उससे मुलाकात के बाद उसने उसकी हत्या की साजिश रची और पहले तो संतोष को शराब पिलाई और फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। संतोष को मौत के घाट उतारने के बाद आरोपी मनोज ने एक झूठी कहानी रची और एक लेटर में गड़े हुए धन को निकालने की झूठी कहानी लिखी, लेटर में एक एक कर उन सभी युवकों के नाम भी पते के साथ लिखे जो उसकी प्रेमिका को छेड़ा करते थे और फिर लेटर को लाश के कपड़ों में छिपाकर फरार हो गया।

 

murder_3.jpg

27 मई को मिली थी लाश
जिस युवक की हत्या के आरोप में मनोज ऊर्फ आकाश साकेत को गिरफ्तार किया गया है उसकी लाश करीब एक महीने पहले उसकी लाश समान थाने के ललपा तालाब के पास पुलिस को मिली थी। शव के गले पर निशान थे जिससे उसकी गला घोंटकर हत्या करने की आशंका थी। पुलिस को शव के अंडरवियर से एक लेटर भी मिला था ।

शव के पास मिला था लेटर
पुलिस को लाश के पास से जो लेटर मिला था उसमें लिखा था कि मेरा नाम राकेश त्यागी है मैं इलाहाबाद का रहने वाला हूं। मैं जमीन से धन सोना चांदी निकलता हूं। गाड़ी के ड्राइवर अतुल के जरिए गांव आया था। लक्ष्मणपुर गांव में 4 किलो की सोने की मूर्ति निकाला हूं, जिसमें एक नरबलि लगी है। टोटल 7 लोग हैं। अतुल पटेल लक्ष्मणपुर, रोहित पटेल लक्ष्मणपुर, अतुल के बुआ का लड़का छत्रपति नगर रीवा, सुरेश विश्वकर्मा लक्ष्मणपुर, दिनेश विश्वकर्मा लक्ष्मणपुर, चंद्र कुमार नामदेव गड्डी रोड लक्ष्मणपुर है। हम जितने लोग रहते हैं उनका नाम और पता। बाद में तफ्तीश के दौरान पुलिस को पता चला कि जिस युवक की लाश मिली है उसका नाम संतोष त्यागी है और वो प्रयागराज का रहने वाला है और खुद एक अपराध के मामले में पुलिस से छिपता घूम रहा था। असली नाम पता मिलने के बाद पुलिस को मामला संदिग्ध लगा और उसने जब बारीकी से मामले की तफ्तीश की तो कुछ ऐसे सुराग उसके हाथ लगे कि वो आरोपी मनोज तक पहुंच गई और इस खौफनाक साजिश का पर्दाफाश हो गया।

 

देखें वीडियो-

 

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned