पुलिस हाउसिंग बोर्ड का उपयंत्री 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते ट्रैप, बिल क्लियर करने के लिए मांगी थी रकम

ठेकेदार से रिश्वत लेते समय लोकायुक्त पुलिस ने धर दबोचा

By: suresh mishra

Published: 05 Sep 2019, 05:56 PM IST

रीवा। रिश्वत के लिए ठेकेदार के बिल का भुगतान रोकने वाले पुलिस हाउसिंग बोर्ड ( Police Housing Board ) के उपयंत्री ( Sub engineer ) को ( Rewa Lokayukta ) पकड़ा गया है। वह कई दिनों से ठेकेदार को रुपए देने के लिए परेशान कर रहा था। इसकी शिकायत लोकायुक्त ( Lokayukta Rewa) में की गई थी, जहां से निगरानी के लिए टीम भेजी गई थी। दोपहर बाद जैसे ही उपयंत्री रिश्वत लेने लगा, लोकायुक्त की टीम ने धर दबोचा। उपयंत्री आलोक पाण्डेय के पास से रिश्वत की राशि भी लोकायुक्त की टीम ने जब्त कर ली है। हाथ धुलवाए जाने पर उसके हाथों से रंग छूटा, जिससे माना गया है कि उसे रिश्वत के नोट लिए थे।

क्या है पूरा मामला

यह शिकायत रायपुर सोनौरी निवासी प्रकाश पटेल ने की थी। प्रकाश मनगवां एवं लौर थाना परिसर में भवन निर्माण का ठेकेदार है। उपयंत्री द्वारा निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठाए जा रहे थे और बाद में कहा गया कि 10 हजार रुपए की रिश्वत देगा तो 8.55 लाख रुपए का भुगतान किया जाएगा अन्यथा दूसरी आपत्तियां दर्ज कर भुगतान रोक दिया जाएगा। यह भवन थाना परिसरों में महिला डेस्क के लिए बनाया जा रहा है। रिश्वत लेते हुए पकड़े गए आरोपी आलोक पाण्डेय उपयंत्री हाउसिंग बोर्ड के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

जनपद भवन में ले जाकर की कार्रवाई
आरोपी उपयंत्री ने शिकायतकर्ता को न्यू बस स्टैंड के पास स्थित मिश्रा पेट्रोल पंप के पास बुलाया था। जहां पर शिकायतकर्ता पहुंचा और रुपए दिया। आरोपी ने जेब में रुपए डाले ही थे कि इसी बीच लोकायुक्त की टीम ने पकड़ लिया। वहां पर कार्रवाई की अन्य औपचारिकताएं पूरी करने के लिए बैठने का स्थान नहीं था। धीरे-धीरे कर भीड़ भी जुटने लगी, इस वजह से लोकायुक्त की टीम ने आरोपी को जनपद पंचायत ले जाकर कार्रवाई की प्रक्रिया पूरी की। आरोपी के कपड़े भी जब्त कर लिए गए हैं।

भवन निर्माण की राशि भुगतान करने के बदले ठेकेदार से उपयंत्री ने रिश्वत मांगी थी। दस हजार रुपए लेते हुए उसे पकड़ा गया है। भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत अभी कार्रवाई जारी है।
राजेन्द्र वर्मा, एसपी रीवा लोकायुक्त

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned