कंट्रोल रुम में पड़ी थी लाश, साक्ष्य जुटाने में पुलिसकर्मियों ने दिखाया हुनर

आल इंडिया पुलिस ड्यूटी मीट की जोन स्तरीय प्रतियोगिता आयोजित

रीवा. सीन आफ क्राइम यूनिट द्वारा सोमवार को कंट्रोल रुम परिसर में आल इंडिया पुलिस ड्यूटी मीट के लिए प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसमें पूरे संभाग के करीब 25 पुलिसकर्मी शामिल हुए जिसमें आरक्षक से लेकर टीआई स्तर के अधिकारी शामिल थे। इस दौरान वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डा. आरपी शुक्ला, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ड वीरेन्द्र पटेल, फोटो शाखा प्रभारी जाम सिंह जोगड़ सहित पूरा स्टाफ मौजूद रहा। इसके लिए पूरा घटनास्थल तैयार किया गया था और एक कर्मचारी मृतक के ऊपर में कुर्सीपर लेटाया गया था। उसके आसपास शराब की शीशी सहित आरोपी फिंगर प्रिंट व फुट प्रिंट रखे गए थे। पुलिसकर्मियों ने घटनास्थल पर मिलने वाले साक्ष्यों को एकत्र किया। इसमें उनको घटना की प्रोफेशनल व इंवेस्टिगेशन फोटो एकत्र करना, मेडिकोलीगल, फोरेसिंक साइंस, फिंगर प्रिंट से जुड़े साक्ष्य घटनास्थल से एकत्र करने और उसको जांच के लिए फोरेंसिक शाखा तक भेजने की जानकारी दी गई। इस प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले पुलिसकर्मियों को भोपाल भेजा जायेगा जहां वे एक बार फिर अपने हुनर का प्रदर्शन करेंगे। इसमें चयनित टीम को पंजाब में आयोजित होने वाले आल इंडिया पुलिस ड्यूटी मीट में शामिल होने का मौका मिलेगा। इस दौरान वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डा. आरपी शुक्ला ने कहा कि बलात्कार के प्रकरणों में अब डीएनए परीक्षण आवश्यक है। इसके लिए आप लोग निर्धारित प्रोफार्म के हिसाब से जानकारी मांगे जिससे सही रिपोर्ट प्राप्त हो सके। घटनास्थ पर मिलने वाले साक्ष्यों को निर्धाारित मात्रा में उठाना है और गवाहों के समक्ष उसे शीलबंद करना है। कई बार नमूने जांच के लिए सागर भेजे जाते है जिसमें कई गड़बडिय़ां रहती है और बाद में वह वापस लौट आता है। उन्होंने कहा कि यदि किसी मामले में अड़चन आ रही है तो उसके लिए कार्यालय से मार्गदर्शन लेकर सही नमूने जब्त कराए।

Balmukund Dwivedi Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned